यूट्यूब सामग्रियों की विश्वसनीयता में बढ़ावा, नयी अद्यतन आयेगी

youtube-to-bring-transparency-in-news-content-india

आजकल लोग खबरों के बारे में अधिक जानने के लिये यूट्यूब पर चले जाते हैं। ऐसे में यूट्यूब पर उपलब्ध खबरों की गुणवत्ता की सुनिश्चितता एक अहम मुद्दा बनती जा रही है जहाँ सस्ती लोकप्रियता के लिये फूहड़ सामग्री भी पेश कर दी जाती है।

इसके लिये अब यूट्यूब अपनी मंच पर आधिकारिक समाचार स्त्रोतों की खोज परिणामों और मुखपृष्ठ दिखा सकती है। इसके साथ वह उन समाचारों की तथ्यपरक जाँच भी करवायेगी कि इनकी खबरों कितनी सही हैं या कितनी मिर्च-मसाला मारी गयी है।

कंपनी ने कहा है कि ब्रेकिंग न्यूज शैल्फ में आधिकारिक समाचार संस्थानों के वीडियो को दिखायेगी। इसके साथ शीर्ष मीडिया संस्थानों को भी उजागर किया जायेगा। इसमें यह भी दिखायी जायेगी कि कोई चैनल किसी समाचार प्रकाशक की स्वामित्व में है। इस सूचना पैनल में स्पष्ट दिखायी जायेगी कि प्रकाशक को किस तरह पैसे मिल रही है।

यदि कोई चैनल सार्वजनिक प्रसारण सेवा होगी, तब वह प्रकाशक की विकिपीडिया पृष्ठ भी दिखायेगी। यह पैनल चैनल में मौजूद वीडियो के दर्शक पृष्ठ पर होगी।

यूट्यूब यह सेवा 30 से अधिक देशों में जारी कर चुकी है जिसमें भारत भी शामिल है। इसकी सूचना पैनल में शामिल प्रकाशक हिंदी और अंग्रेजी सामग्रियों की फैक्ट चैकिंग यानि तथ्यपरक जाँच करेंगे।

छवि स्त्रोत: Pexels

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब हाँ है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Enjoy Reading with Takniq :-)