टिकटोक से प्रतिबंध हटी, प्रशंसक झूमे

टिकटोक पर चल रही बहस अब जल्द ही बंद हो जायेगी। मद्रास उच्च न्यायालय ने टिकटोक के डाउनलोड पर लगी रोक को हटा दिया है।

सुप्रीम कोर्ट ने परसों मद्रास उच्च न्यायालय को 2 दिनों की मौहलत देते हुये कहा था कि वह टिकटोक से प्रतिबंध हटाये, वर्ना अगले दो दिनों में वह खुद हटा देगी।

आज इसकी आखिरी तारीख थी, तो मद्रास उच्च न्यायालय ने इस एप की डाउनलोड पर लगी प्रतिबंध को हटा दिया है। और अब आप इस एप को गूगल प्लेस्टोर और एपल एपस्टोर से डाउनलोड कर पायेंगे।

हालाँकि न्यायालय ने टिकटोक को चेतावनी दी है कि वह अपनी मंच पर अश्लील सामग्री अपलोड नहीं करने देगी।

इस महीने की शुरुआत में मद्रास उच्च न्यायालय ने एप के डाउनलोड पर प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया था। इसके बाद भारत सरकार ने गूगल और एपल को पत्र लिखकर टिकटोक को प्लेस्टोर से हटाने को कहा था

इसकी वजह से टिकटोक की मूल कंपनी बाइटडांस कह चुकी है कि उसे रोजाना ₹3.5 करोड़ का नुकसान हो रही है। इसके साथ ही कंपनी की 250 से अधिक नौकरियाँ खतरे में हैं।

इस एप पर यह प्रतिबंध इसीलिये लगायी गयी थी क्योंकि मद्रास उच्च न्यायालय में आयी एक याचिका के अनुसार, यह एप बाल यौन शोषण को बढ़ावा देती है। इस एप की असंयमित सामग्री बच्चों के लिये उनके उम्र के हिसाब से ज्यादा परिपक्व (अश्लील पढ़िये) होती है और यहीं से समस्या की शुरुआत हुयी।

यह एप निशुल्क है पर इसमें इन-एप क्रय शामिल है जिसकी वजह से कंपनी प्रति महीने ₹105 करोड़ से अधिक कमाती है। इस प्रतिबंध से उसे कम-से-कम ₹25 करोड़ का नुकसान हुयी है।

छवि स्त्रोत: Business Today (Edited)

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब हाँ है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Enjoy Reading with Takniq :-)