किशोर ने एपल पर $1 बिलियन का मुकदमा ठोक दिया है

ओसमाने बाह नामक अमेरिकी युवक ने एपल पर आरोप लगाया है कि वह जबभी एपल स्टोर में जाते हैं, एपल उन्हें डकैत के तौर पर पहचान लेती है। 

वह न्यूयार्क और बोस्टन में निर्दोष साबित हो चुके हैं। इसके बावजूद वह जबभी एपल स्टोर में जाते हैं तो उन्हें आरोपी के तौर पर देखा जाता है। उनपर अभीभी न्यूजर्सी में मुकदमा लंबित है।

मुकदमे के अनुसार, एनवाईपीडी जासूस जोन रिनहोल्ड ने मैनहट्टन स्थित एपल स्टोर के निगरानी विडियो में दिख रहे संदिग्ध को बाह नहीं माना। यहाँ रिनहोल्ड ने जोड़ा था कि एपल की सुरक्षा प्रौद्योगिकी फेशियल पिकग्निशन के माध्यम से संदिग्धों को पहचान सकती है।

हालाँकि जब द भर्ज ने रिनहोल्ड से इस बाबत बात किया तो उन्होंने कहा कि एपल तकनीकी रूप से अपने स्टोरों में फेशियल रिकग्निशन का उपयोग नहीं करती है। वहीं एपल ने भी द भर्ज को कहा है कि वह अपने स्टोरों में इसका इस्तेमाल नहीं करती है।

इस मुकदमे में एपल के अलावा एक और कंपनी एसआईएस सिक्युरिटी का नाम दर्ज है।

हालाँकि एपल एसआईएस सिक्युरिटी की मुवक्किल नहीं है। यहाँ सीधे-सीधे कुछ कह पाना संभव नहीं है जबतक इस मामले में सुनवाई नहीं शुरु होती है। 

छवि स्त्रोत: Pixabay

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब हाँ है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Enjoy Reading with Takniq :-)