रिलायंस जियो ने कृबु स्टार्टप हाप्टिक को खरीद लिया

reliance-jio-buys-business-chatbot-haptic-ai

मुकेश अंबानी नेतृत्व की रिलायंस जियो ने कृबु चैटबोट कंपनी हाप्टिक का अधिग्रहण कर लिया है। कंपनी ने हाप्टिक की 87 प्रतिशत शेयर को ₹700 करोड़ में खरीदा है।

रिलायंस हाप्टिक की 87 प्रतिशत हिस्सेदारी खुद रखेगी और शेष 13 प्रतिशत हाप्टिक संस्थापकों और कर्मचारियों के पास रहेंगे।

हाप्टिक एक वार्तालापी कृबु मंच है जो व्यवसायिक चैटबोट बनाती है। कंपनी ग्राहक समर्थन, लीड जनरेशन, सजाल रखवाला, और लाइव चैट जैसी सुविधायें देती है।

इस अधिग्रहण के बाद हाप्टिक जियो की 30 करोड़ ग्राहकों तक अपनी पहुँच बना लेगी। इस अधिग्रहण के बाद हाप्टिक अपने संचालनों को बढ़ाकर दुनिया की नंबर 1 कृबु चैटबोट मंच बन सकती है जहाँ भारत की जनसंख्या 138 करोड़ है।

“हम एक आइडिया के साथ आये थे कि वार्तालापी इंटरफेस काम करने के तरीके में बदलाव ला सकती है। आज हमने उपभोक्ता व उद्यम व्यवसायों हेतु विभिन्न उत्पादों का निर्माण किया है जो स्टैक और आवाजी कृबु प्रौद्योगिकी से सक्षम है”, हाप्टिक सीईओ आकृत वैश ने जी बिजनस को कहा।

यह रिलायंस जियो का दूसरा अधिग्रहण है। इससे पहले कंपनी ने 2018 में म्यूजिक स्ट्रीमिंग एप सावन का अधिग्रहण किया था जिसे बाद में उसने अपनी म्यूजिक सेवा जियो म्यूजिक में एकीकृत कर दिया था।

हाप्टिक के मौजूदा ग्राहकों में टाटा समूह, ओयो रूम्स, महिंद्रा समूह, सैमसंग, फ्यूचर रिटेल जैसे दिग्गज है। ऐसे में जियो का साथ मिलने से हाप्टिक अपने इंटरप्राइज ग्राहकों के लिये उम्दा पेशकश करके बाजार में अपनी उपस्थिति अधिक मजबूत करेगी।

छवि स्त्रोत: Haptik.ai

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब हाँ है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Enjoy Reading with Takniq :-)