माइक्रोसोफ्ट ने एक्सप्रैस लोजिक खरीदा, आईओटी पेशकश में थ्रैडएक्स जुड़ी

microsoft-buys-express-logic-rtos-iot

अगर आप इंटरनेट ओफ थिंग्स यानि आईओटी के बारे में जानते हैं तो आपको पता होगा कि यह किस तरह भावी भविष्य को बेहतर बनाने में योगदान दे सकती है। इसी बीच खबर आयी है कि माइक्रोसोफ्ट ने वास्तवकालीन ओएस के लिये प्रसिद्ध एक्सप्रैस लोजिक को खरीद लिया है

कंपनी के पास तत्पूर्व विंडोज 10 आईओटी के साथ लिनक्स-आधारित आईओटी मंच अजुरे स्फैयर है। अब इसमें एक्सप्रैस लोजिक की थ्रैडएक्स भी शामिल हो गयी है जो वास्तवकालीन ओपरेटिंग सिस्टम है।

हालाँकि इसकी रकम का खुलासा नहीं किया गया है।

वास्तवकालीन ओएस के साथ सबसे बड़ा फायदा यह है कि बतौर विकासक, आप गारंटी दे सकते हैं कि किसी एक प्रक्रिया से दूसरे में जाते वक्त कितनी समय लगेगी। इससे वे हार्डवेर इवेंट, कालद, या अन्य चीजों के साथ बेहतर तरीके से समन्वय बनाते हैं जिससे सीपीयू का बेहतर उपयोग हो पाती है।

सनद रहे कि थ्रैडएक्स का उपयोग नासा की डीप ईम्पैक्ट अभियान 2013 में भी हुयी थी। इसका उपयोग आईफोन 4 की सैल्युलर रेडियो नियंत्रक में भी किया गया था। थ्रैडएक्स अनेकों वाईफाई उपकरणों में एंबैडेड है।

लिनक्स अनुमानीय व्यवहार देती है और थ्रैडएक्स की तरह प्रदर्शन देने में सक्षम है पर थ्रैडएक्स एक मामले में उससे आगे हो जाती है और वह है: यह आकार में बहुत छोटी है।

एक सामान्य थ्रैडएक्स के संस्थापन में 2000 बाइट भंडारण और 1 केबी रैम की जरुरत पड़ती है जो ना तो लिनक्स के बूते है और विंडोज को भूल ही जाइये। वहीं माइक्रोसोफ्ट की लिनक्स आधारित स्फैयर हार्डवेर को 4 एमबी रैम और 16 एमबी भंडारण की जरुरत पड़ती है जो एंबैडेड सुरक्षा विशेषताओं के साथ ग्राहकीत आर्म प्रोसेसर का उपयोग करती है।

एक आँकलन के अनुसार, इस समय थ्रैडएक्स के 62 करोड़ डिप्लोयमैंट पूरी दुनिया में चलमान हैं जो कई प्रोसेसरों या माइक्रोकंट्रोलरों में मौजूद हैं।

थ्रैडएक्स की उपलब्धता के साथ, माइक्रोसोफ्ट आईओटी क्षेत्र में दिग्गज बनने के लिये कमर कस चुकी है और वह अब अजुरे आईओटी हब से जुड़ने हेतु हर प्रकार की उपकरणों को समर्थन देती है।

छवि स्त्रोत: Express Logic

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब हाँ है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Enjoy Reading with Takniq :-)