एपल-क्वालकोम समझौते के बाद: अब इंटेल 5जी चिपसैट नहीं बनायेगी

intel-5g-modem-statement-after-apple-qualcomm-dispute-endsस्त्रोत: इंटेल की भी-प्रो प्रोसेसर

एपल-क्वालकोम समझौते ने सबसे बड़ा धक्का इंटेल को ही दिया है। हालाँकि इसे धक्का बोलना नाइंसाफी ही होगी लेकिन जब आपको पता है कि आप कंपूटर जगत के सरताज हैं तो आप क्यों किसी अलग दुनिया में घुस रहे हैं।

इससे आपकी नाम और काम दोनों ही खराब होती है!

हालाँकि एपल और क्वालकोम के बीच हुयी अचानक दोस्ती से इंटेल ने झटकेदार उद्घोषणा करते हुये कहा कि वह अब मोबाइल हैंडसेटों हेतु 5जी चिपसैट नहीं बनायगी।

इंटेल ने अपनी पोस् में कहा कि वह स्मार्टफोनों के लिये 5जी मोडम लांच नहीं करेगी जो 2020 में प्रस्तावित थे।

“हम 5जी एवं नेटवर्क की मेघीकरण में छिपी संभावनाओं के प्रति उत्सुक हैं पर स्मार्टफोन मोडम व्यवसाय में लाभ व सकारात्मक प्रतिफल की स्पष्ट पथ नहीं दिख रही है”, बोब स्वान, इंटेल सीईओ ने अपनी पोस्ट में कहा। “इंटेल के लिये 5जी हमेशा रणनीतिक प्राथमिकता रहेगी और हमारी दल 5जी बेतार उत्पादों एवं बौद्धिक संपदा तैयार कर चुकी है।”

इसी बीच एक डर एपल के जेहन में थी कि यदि वह क्वालकोम को साथ नहीं लेगी तो वह बिना 5जी के आईफोन लांच नहीं कर सकती थी जो एपल के लिये नासाज हो जाती!

हालाँकि इंटेल ने नवंबर में कहा था कि वह 5जी मोडम के निर्माण में तेजी ला रही है। पर मौजूदा परिदृश्य में, वह अब कंपूटर जगत, इंटरनेट ओफ थिंग्स तथा अन्य उपकरणों (*स्मार्टफोन छोड़कर) में 4जी व 5जी की अवसरों को तलाशेगी। इसके साथ 5जी अधोसंरचना प्रौद्योगिकी के विकास में निवेश जारी रखेगी।

छवि स्त्रोत: Intel

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब हाँ है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Enjoy Reading with Takniq :-)