5जी दौड़ में एपल हुवाई का साथ ले सकती है

huawei-offers-apple-5g-modems

बात 5जी की है तो एपल अपने प्रतिद्वंद्वियों से पीछे नहीं रहना चाहेगी पर खबरों की मानें तो वह 2020 से पहले अपना 5जी फोन नहीं ला पायेगी। क्वालकोम इस वक्त 5जी की सबसे मजबूत खिलाड़ी है और एपल इसके साथ कानूनी जंग लड़ रही है।

ऐसे में एपल उसकी 5जी मंच का उपयोग नहीं करेगी। वह अपनी 5जी चिप डिजाइन कर रही है जो 2020 से पहले नामुमकिन दिख रही है। ऐसे वक्त में चीनी दूरसंचार भेंडर हुवाई ने अपनी नीति में बदलाव लाते हुये एपल को अपना 5जी बालोंग 5000 चिप देने की पेशकश की है।

हुवाई पर पिछले एक वर्षों से जो आरोप लगा है, उससे एक चीज स्पष्ट हो जाती है कि एपल हुवाई के साथ कभी भागीदारी करना नहीं चाहेगी और वहभी 5जी में, जब अमेरिका और अस्ट्रेलिया ने स्वयं हुवाई उत्पादों को राष्ट्रीय सुरक्षा कारणों से प्रतिबंधित कर दिया है।

सैमसंग दूसरी कंपनियों को अपनी 5जी हार्डवेर बेचने के मूड में कतई नहीं दिख रही है। इधर एपल मीडियाटेक की 5जी चिप का उपयोग करने से मना कर चुकी है।

टेकटाइम्स कहती है कि हुवाई सिर्फ एपल को अपनी 5जी चिप बेचना चाहती है।

हुवाई और एपल एकदूसरे के विपरीत चरित्र के रहे हैं। हुवाई पर डाटा निजता उल्लंघन के आरोप लगे हैं और एपल 2014 के बाद से बिल्कुल बेदाग दिखी है। ऐसे में एपल के पास इंटेल का आसरा है पर इंटेल भी 5जी चिप बनाने में पीछे चल रही है।

ऐसे में हुवाई का साथ लेना एपल के लिये बहुत अच्छा अनुभव नहीं होगा पर यह बात ध्यान में रखना होगा कि एपल 5जी दौड़ में कभी पीछे नहीं रहना चाहेगी। और दूसरी कंपनियों की 5जी हैंडसेट बाजार में लांच होने को बेताब दिख रही हैं।

छवि स्त्रोत: Pexels

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब हाँ है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Enjoy Reading with Takniq :-)