फेसबुक वैश्विक जनसंख्या घनत्व हेतु कृबु का उपयोग कर रही है

facebook-mapping-the-world-using-ai-for-global-population-density

फेसबुक भलेही निजता मामलों में मुँह की खा रही है पर वह अपनी वैश्विक आकांक्षाओं की पूर्ति में कोई कसर नहीं छोड़ रही है।

सामध्यमा दिग्गज कृत्रिम बुद्धिमता की मदद से वैश्विक जनसंख्या घनत्व का मानचित्र तैयार कर रही है। 2016 में, कंपनी ने 22 देशों के लिये पहली मानचित्र तैयार किया था। और अब उसने इस कृबु मानचित्र में अफ्रीका के अधिकतर इलाकों को शामिल कर दिया है।

“जब यह पूरी हो जायेगी, तब मानवीय संगठन तय कर पायेंगे कि दूरदराज की आबादी किस तरह वितरित होती है और स्वास्थ्य कार्यकर्ता बेहतर तरीके से अपनी सेवायें इन इलाकों तक पहुँचा पायेंगे”, फेसबुक ने अपनी पोस्ट में कहा है।

यह कृबु मानचित्र उपलब्ध जनसंख्या आँकड़ों के साथ महत्वपूर्ण जानकारी देगी जहाँ जिम्मेदार संस्था किसी इलाके की इमारतों या घरों की पहचान आसानी से कर पायेंगे। इसमें स्वचालन के उपयोग से वे जान पायेंगे कि किसी इमारत में कितने लोग रहते हैं।

अभी व्यवस्था यह है कि जनसंख्या अधिकारी खुद जाकर जाँच करते हैं कि अमुक इलाके की किसी इमारत या मोहल्ले में कितने लोग रहते हैं लेकिन इसकी वजह से यह स्वचालित हो जाती है। और आँकड़े परिनिष्ठित हो जायेंगी।

“इसमें शामिल जनसंख्या और उपग्रह आँकड़ों में कोई व्यक्तिगत पहचान सूचना नहीं है”, फेसबुक ने कहा।

इसका इस्तेमाल राहत कार्यों में भी हो पायेगी जब राहतकर्मी इनकी मदद से प्रभावित लोगों तक अपनी मदद पहुँचा पायेंगे।

छवि स्त्रोत: facebook

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब हाँ है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Enjoy Reading with Takniq :-)