स्वास्थ्य एपों के साथ अपनी स्वास्थ्य जानकारियाँ साझा करने से पहले, इसे पढ़ लीजिये

depression-and-smoking-cessation-apps-sharing-your-data-privacy-facebook-google-advertising

अगर आप किसी स्वास्थ्य एप, जैसे धूम्रपान या मानसिक अवसाद जैसी समस्याओं को दूर करने वाली एपों का उपयोग करते हैं तो सावधानीपूर्वक इनकी आँकड़ा नीति पढ़ लीजिये। ये एप आपका आँकड़ा किसी विज्ञापन एजेंसी को बेचकर मालामाल तो नहीं हो रहे हैं?

द भर्ज के अनुसार, जामा नेटवर्क ओपन की एक अध्ययन में कहा गया है कि 36 मानसिक स्वास्थ्य एपों (नाम सार्वजनिक नहीं किया गया है) में से 29 फेसबुक या गूगल को विज्ञापन या विश्लेषिकी के लिये आपका डाटा बेच रहे हैं पर इन्होंने इसका खुलासा अपने उपयोक्ताओं के साथ नहीं किया है।

12 फेसबुक-लिंक्ड एपों में से सिर्फ 6 ने और 28 गूगल-लिंक्ड एपों में से 12 ने अपने उपयोक्ताओं के साथ साझा किया कि वे उनके आँकड़ों का क्या कर रहे हैं।

इनमें से सिर्फ 25 एपों के पास नीति है जिसमें उल्लेख है कि वे उपयोक्ता आँकड़ों का उपयोग किस तरह करते हैं जबकि 16 ने द्वितीयक उपयोगों का हवाला दिया।

गौरतलब है कि एपस्टोर पर अनेक एप उपलब्ध हैं जो दावा करती हैं कि वे आपकी मानसिक समस्या दूर कर सकती हैं। ऐसे में, वे आपकी आँकड़े हासिल करती हैं जिसे वे मुनाफाखोरी के चक्कर में किसी को भी बेच सकती हैं।

इन एपों से प्राप्त आँकड़ों की मदद से आपकी मानसिक स्वास्थ्य के बारे में अहम जानकारियाँ मिलती है जिसे किसी भी सूरत में साझा नहीं किया जाना चाहिये।

वैसे इसके क्या परिणाम होंगे यदि आपकी स्वास्थ्य आँकड़ों को साझा किया जाता है?

आपको स्वास्थ्य परामर्श वाली विज्ञापन दिखायी देंगे जिनमें नशाखोरी वाली भ्रामक विज्ञापन भी कभी-कभी हो सकते हैं।

इसका समाधान क्या है?

आप जिन एपों का उपयोग करते हैं या करना चाहते हैं, उनकी निजता नीति ढूँढिये और देखिये कि आपके आँकड़ों को कहाँ-कहाँ भेजा जाता है। और किस उद्देश्यपूर्ति के लिये आपके आँकड़ों का आगे उपयोग किया जाता है।

इसके अलावा आप सरकारी स्वास्थ्य एपों पर ज्यादा भरोसा कर सकते हैं।

छवि स्त्रोत: Pexels

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब हाँ है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Enjoy Reading with Takniq :-)