चीन बिटकोइन खनन पर प्रतिबंध लगाना चाहती है

china-to-put-ban-bitcoin-mining-wasted-resources

चीन क्रिप्टोमुद्रा खनन में बेताज बादशाह है और वह ब्लोकचैन में क्यों सबसे आगे हैं, इसका प्रमाण उसने खुद पेश कर दिया है।

चीन की मुख्य योजना नियामक नेशनल डेवलपमेंट एंड रिफोर्म कमीशन (एनडीआरसी) ने देश में बिटकोइन खनन पर प्रतिबंध लगाने की माँग की है। इनका मानना है कि बिटकोइन खनन की वजह से चीनी संपदाओं की बर्बादी हो रही है।

बिटकोइन खनन की आम प्रक्रिया में कई सारे कंपूटर लगे होते हैं जो ब्लोकचैन (एक धागे में कई सारे मोती) में पटे रहते हैं पर उनकी कोई खास मकसद नहीं होती है। दुनियाभर में जितनी क्रिप्टोमुद्राओं की खनन होती है, उनमें से तीन चौथाई अकेले चीन करती है जिससे 1 करोड़ टन कार्बन डाई ओक्साईड पैदा होती है। (नेचर की हालिया अध्ययन के अनुसार)

चीन पिछले 1 वर्ष से इसपर विचाररत है। वह स्थानीय निकायों को प्रोत्साहित कर रही है कि वे बिजली बिल बढ़ाकर या पर्यावरण का मुद्दा उठाकर बिटकोइन खनन व्यवसाय को बंद करे। चीनी सरकार मानती है कि क्रिप्टोमुद्रा खनन से जितनी अमेरिकी डोलर मूल्य की बिटकोइन पैदा होती है, उससे ज्यादा ऊर्जा खपत हो रही है जो हर तरीके से नुकसान दिखाती है।

हालाँकि चीनी सरकार पर्यावरण या प्रदूषण से ज्यादा निवेशकों के नुकसान से डर रही है जो क्रिप्टोमुद्रा में फँसी हुयी है।

यदि नयी नियम प्रभावी हो जाती है, तो साउथ चाइना मोर्निंग पोस्ट के अनुसार, चीनी खनिक व्यवसाय छोड़ देंगे या उन इलाकों में चले जायेंगे जहाँ बिजली दरें सस्ती होंगी। कई चीनी कंपनियाँ कनाडा की क्यूबेक आ चुकी हैं जहाँ जलशक्ति से उत्पन्न बिजली सस्ती भी है और गैर-प्रदूषणकारी भी। इसके अलावा कुछ कंपनियाँ अस्ट्रेलिया के कोयला खदानों के पास बस चुकी हैं।

चीन ने 2017 में क्रिप्टोमुद्रा एक्सचैंज को प्रतिबंधित कर दिया था जिसकी वजह से इनकी कीमतों में गिरावट देखने को मिली थी। अब इस प्रस्ताव से पूरी क्रिप्टोखनन उद्योग पर खतरा मंडरा रही है।

एनडीआरसी ने 7 मई तक स्थानीय परामर्श व चर्चा के लिये समय दिया है।

छवि स्त्रोत: Pexels

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब हाँ है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Enjoy Reading with Takniq :-)