फर्जी क्लिक के मामले में गूगल ने एक एप विकासक को प्लेस्टोर से हटाया

baidu-apk-deleted-over-fake-click-factory-google-play-store

गूगल ने प्लेस्टोर से एक लोकप्रिय चीनी विकासक को प्रतिबंधित करने के साथ उनकी दर्जनभर से अधिक एपों को गूगल प्लेस्टोर से हटा दिया है।

ऐसा तब किया गया जब पता चला कि विकासक विज्ञापन धोखाधड़ी कर रहे थे। इसके अलावा वे उपयोक्ता अनुमतियो में भी आपत्तिजनक खिलवाड़ करते पाये गये। यह चीनी विकासक बायदू स्वामित्व की डो ग्लोबल है जिसे फर्जी विज्ञ क्लिकों से राजस्व अर्जित करने जैसी गतिविधियों में लिप्त पाया गया।

इसका खुलासा बजफीड के जरिये हुयी है।

“हम उपयोक्ताओं और विज्ञापनदाताओं को सुरक्षित रखना चाहते हैं और धोखाधड़ी एवं अपमान जैसी चीजों के लिये औजारों व संसाधनों में निवेश करते हैं। हम किसी दूषित व्यवहार की जाँच करते हैं और जब हमें उल्लंघन मिलती है, तब हम कार्रवाई करते हैं और उनकी एपों को प्लेस्टोर पर प्रकाशित होने या एडमोब से एप मुद्रीकृत होने नहीं देते हैं”, गूगल ने द भर्ज को कहा।

हालाँकि गूगल ने आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं की है कि वह डो ग्लोबल को पूर्णतः प्रतिबंधित कर रही है लेकिन यदि यह सच है तो यह अबतक की सबसे बड़ी घटना मानी जायेगी जिसमें किसी एप विकासक को, जिसके पास 5 लाख से अधिक उपयोक्ता हैं, प्रतिबंधित कर दिया गया।

इनकी 46 एपों को गूगल प्ले से हटा दिया गया है।

ram master_malware_1a

 

इनमें फोटो एडिटर-मेकअप कैमरा, फोटो इफेक्ट्स और क्रैश कोप्स जैसी एप शामिल हैं। अगर आप भी इस तरह की एप का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आप इन एपों को असंस्थापित कर दीजिये।

यह पहली मामला नहीं है जिसमें गूगल ने एकाधिक एपों को बाहर का रास्ता दिखाया है। पिछले वर्ष जनवरी में, गूगल ने प्लेस्टोर से 60 गेमों को मिटा दिया था जब पता चला कि ये एप पोर्न विज्ञापन दिखाती थी। इनमें से अधिकतर गेम बच्चों के लिये थे।

अद्यतन: डो मोबाइल ने अपनी सजाल पर एक बयान प्रकाशित किया है जिसकी छवि प्रति यहाँ दे रहे हैं।

Do Global Baidu statement

“हम गूगल की निर्णय को स्वीकार करते हैं और हमारी उत्पादों में आयी अनियमितता के लिये खेद जताते हैं”, डो ने अपने बयान में कहा।

छवि स्त्रोत: Google Play Store

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब हाँ है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Enjoy Reading with Takniq :-)