जनगणना 2021 की जनगणना एप के जरिये होगी: आरजीआई

app-to-be-used-for-census-2021

150 सालों से चली आ रही परंपरा टूटने जा रही है और टूटे भी क्यों नहीं, जब खुद भारत सरकार डिजीटल इंडिया की प्राथमिकता पेश करते हुये आगे बढ़ रही है। भारत सरकार 2021 में होने वाली जनगणना हेतु आँकड़ा एकत्रीकरण के लिये मोबाइल एप का उपयोग करेगी।

इसकी जानकारी केंद्रीय गृह सचिव राजीव चौबा ने दी है।

इस बार जनगणना में 33 लाख कर्मचारी काम करेंगे जो मोबाइल एप से आँकड़े ईकट्ठा करेंगे। इन कर्मचारियों को अलग से मोबाइल भत्ता दिया जायेगा। जो कर्मचारी मोबाइल एप का इस्तेमाल नहीं करेंगे, वे कागज में आँकड़े लिखकर फिर एप में आँकड़े दर्ज करवायेंगे।

हालाँकि इस दौरान होने वाली आँकड़ा दुरुपयोग की घटना से बचाव सुनिश्चित किया जायेगा।

गृह सचिव ने बताया कि जम्मू व कश्मीर, उत्तराखंड तथा हिमाचल प्रदेश के बर्फबारी वाले क्षेत्रों में 1 अक्तूबर 2020 से जनगणना का काम शुरु कर दिया जायेगा और शेष भारत में 1 मार्च 2021 से।

जनगणना का आर्थिक महत्व के साथ-साथ सामाजिक सरोकार भी है। इससे सरकार निर्वाचन क्षेत्रों के परिसीमन और आरक्षित सीटों के बारे में निर्णय लेती है। इसके अतिरिक्त देश की अर्थव्यवस्था में उन पिछड़े इलाकों के बढ़ते योगदान को भी चिह्नित किया जाता है जो बीमारू गिनती में आते हैं।

छवि स्त्रोत: Pexels

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब हाँ है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Enjoy Reading with Takniq :-)