चीनी सुरक्षा एजेंसियाँ हुवाई को वित्तीय मदद देती है: सीआईए

american-cia-says-huawei-funded-by-chinese-state-security

हुवाई 5जी प्रौद्योगिकी में सैमसंग के बाद दूसरी विकल्प बनकर उभरी है। और वह धीरे-धीरे अपनी सेवाक्षेत्रों का प्रसार कर रही है।

पर अमेरिकी गुप्तचर एजेंसी सीआईए उसके प्रसार में बाधा बनती दिख रही है। वह अमेरिकी सरकार को मना चुकी है कि हुवाई चीनी सुरक्षा एजेंसियों की मदद लेती है और इस वजह से हुवाई उपकरणों पर भरोसा नहीं किया जा सकता है।

द टाइम्स की खबर पर गौर करें तो अमेरिकी सीआईए ने हुवाई को फिर से यूके में घेरा है जहाँ वह 5जी स्मार्टफोन बेचना चाहती है। सीआईए ने यूके के खुफिया अधिकारियों को बताया है कि चीनी सुरक्षा एजेंसियों ने हुवाई में निवेश किया है | इसमें चीन के अहम सुरक्षा एजेंसियों का नाम जोड़ा गया है।

इसके साथ अमेरिका अस्ट्रेलिया सहित अन्य देशों को हुवाई प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल नहीं करने की सलाह दे चुकी है और अस्ट्रेलिया ने पहले ही हुवाई पर प्रतिबंध लगा दिया है। अस्ट्रेलिया ने कहा है कि उसने राष्ट्रीय सुरक्षा के मद्देनजर हुवाई को प्रतिबंधित किया है।

हालाँकि यूके हुवाई की 5जी सेवा का उपयोग करने से नहीं हिचकिचा रही है पर वह उसे सुरक्षा मानकों पर खरी उतरने के बाद ही अनुमति देगी। इसके साथ जर्मनी भी अपने देश में 5जी इंफ्रास्ट्रक्चर फलते-फूलते देखना चाहती है।

वहीं हुवाई इस तरह के दावे का हमेशा खंडन करती रही है।

गौरतलब है कि यूके की एक समिति ने हुवाई उपकरणों में तकनीकी खामी होने के संकेत दिये हैं जो इसकी ओपरेटिंग सिस्टम से संबंधित है। हुवाई विंड रिभर की भीएक्सवर्क्स ओएस का उपयोग कर रही है जो वास्तवकालीन ओपरेटिंग सिस्टम है। यह संस्करण 2020 में सुरक्षा अद्यतन पाना बंद कर देगी। समिति के अनुसार, इसकी वजह से यूके की डाटा सुरक्षा में सेंधमारी हो सकती है।

हालाँकि इसके साथ यह जोड़ा गया है कि हुवाई उपकरणों में किसी बैकडोर या जासूसी सुविधाओं का सुराग नहीं मिली है।

यहाँ यह मानना बेहद मुश्किल है कि हुवाई किस तरह चोरी या सीनाजोरी कर रही है पर सीआईए या अमेरिका जिस तरह हुवाई को चीनी सुरक्षा एजेंसियों के नाम पर घेर रहे हैं, यह भी अमेरिका की इस दरियादिली को दिखाती है जहाँ वह बिना पर्याप्त सबूत के दूसरे देशों पर अपना फैसला लागू करना चाहती है।

छवि स्त्रोत: Pexels

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब हाँ है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Enjoy Reading with Takniq :-)