विशाखापत्तनम की स्टार्टप ने बनाया वाटर ड्रोन, पानी में होने वाली मौतें कम होगी

water drone by Saif Sea

विशाखापत्तनम की स्टार्टप सैफ ओटोमेशंस सर्विसेज ने वाटर ड्रोन नामक मशीन बनाया है जिसकी मदद से समुद्री सैर के दौरान साँस लेने में आने वाली समस्या की वजह से होने वाली लोगों की मौतों की संख्या में गिरावट आयेगी।

सैफ ओटोमेशंस ने एक रिमोट-चालित वाटर ड्रोन का डिजाइन किया है जो जीवनरक्षक की तरह काम करती है। यह मशीन नारंगी रंग में घोड़े की पैर के आकार की है जिसका वजन 12 किग्रा है। यह मशीन पानी में डूबती नहीं है।

यह मशीन एक बार में 3 लोगों की रक्षा कर पायेगी और कुल 300 किग्रा वजन ढो सकती है। इसकी अधिकतम गति 13 किलोमीटर प्रति घंटा है। इसकी रिमोट 156-174 मेगाहर्ट्ज आवृत्ति का उपयोग करती है।

सैफ ओटोमेशंस सर्विसेज एलएलपी के सह-संस्थापक अलीअसगर कलकत्तावाला ने द हिंदू को कहा कि अगर हम समुद्र तटों में होने वाली मौतों से लोगों को बचाना चाहते हैं तो हमें ऐसे उपकरणों की संख्या बढ़ानी होगी।

2017 में, दो भाई अलीअसगर कलकत्तावाला और ताहिर अहमद कलकत्तावाला ने मिलकर सैफ सी (आँग्ल: Saif Sea) शुरु करने का फैसला किया। अलीअसगर विशाखापत्तनम में वाटर ड्रोन के विकास पर कार्यरत हैं और उनके भाई ताहिर कोलकाता से व्यवसायिक मामले देख रहे हैं।

अलीअसगर ने द हिंदू को कहा कि वह पिछले दो वर्षों से इस परियोजना पर काम कर रहे हैं। 100 घंटों की कंपूटर सिमुलेशन और परीक्षण में लगी 200+ घंटों के बाद, यह वाटर ड्रोन अब लांच होने की कगार पर है।

सैफ सी इसे अखिल भारत में उतारना चाहती है। कंपनी इसे जल खेलों (आँग्ल: वाटर स्पोर्ट्स) में भी आजमाने की ओर अग्रसर है।

सैफ सी ने इसे इस तरह डिजाइन किया है कि यह जोयस्टिक से भी नियंत्रित हो सकती है।

फिलवक्त, कंपनी इसका परीक्षण उच्चतर गति पर कर रही है और जल्द ही बाजार में उतारने हेतु शेष तैयारियाँ कर रही है।

 

छवि स्त्रोत: saifseas.com

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब हाँ है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Enjoy Reading with Takniq :-)