Aadhar Card, Ananya

अब आपको हर जगह आधार संख्या नहीं देना पड़ेगा, वीआईडी आ रही है

aadhar card logo

पिछले दिनों आधार संख्या से जुड़े निजता मुद्दे ने डिजीटल भारत के स्वप्न को थोड़ा धक्का पहुँचाने का प्रयास किया था लेकिन अब आधार आँकड़ों के दुरुपयोग होने की संभावना पर विराम लगाने के लिये भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने आधार कार्ड का विकल्प तैयार कर लिया है: वर्चुअल आईडी (वीआईडी)।

भाविपप्रा ने जनता के लिये वर्चुअल आईडी का बीटा संस्करण लांच कर दिया है। प्राधिकरण के अनुसार, “1 जून 2018 से सभी सेवा प्रदाता संस्थायें आधार की जगह वीआईडी स्वीकार करना शुरु कर देंगे।”

प्राधिकरण ने ट्विट करते हुये कहा कि यह नयी विशेषता आधार धारकों को बगैर सत्यापन किये एक वीआईडी संख्या बनाने की अनुमति देगी जिसका उपयोग आप किसी भी सेवा के लिये कर सकेंगे। फिलवक्त, आप इसका उपयोग अपना पता अद्यतित करने के लिये कर सकते हैं।

UIDAI launches Virtual ID. Generate your VID from: https://resident.uidai.gov.in/web/resident/vidgeneration … Soon, service providers will start accepting VID in place of Aadhaar number. For now, you can use this for online address update in your Aadhaar from: https://ssup.uidai.gov.in/web/guest/ssup-home …

-भाविपप्रा (@UIDAI) अप्रैल 2, 2018

uidai launches vid for aadhar

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायलय की संविधान पीठ आधार मामले की सुनवाई कर रही है जिसमें वह एक फैसला दे चुकी है कि सरकारी योजनाओं के लिये आधार संख्याओं का उपयोग जारी रहेगा। लेकिन इससे जुड़ी मसलों की संख्या पर विराम नहीं लग रहा है और विभिन्न याचिकाकर्ता यह साबित करने पर तुले हुये हैं कि आधार कार्ड के आँकड़े सुरक्षित नहीं हैं और इस बुनियाद पर आधार कार्ड जैसी पहचान संस्था को बंद कर देना चाहिये।

अब वर्चुअल आईडी के आने के बाद आधार से जुड़े निजता मुद्दों पर थोड़ा सर्दी लग सकती है। यह अभी की अपेक्षा ज्यादा सुरक्षित होगी क्योंकि जब वर्चुअल आईडी पूर्णरूपेन हो जायेगी, तब आपको बायोमैट्रिक (जैवमितिक) सहित अपना असली 12-संख्याओं की आधार नहीं देकर आप इस आभासी पहचान संख्या का उपयोग कर पायेंगे जिसे ट्रैक कर पाना अभी की अपेक्षा आसान नहीं होने वाली है।

छवि स्त्रोत: अमर उजाला

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.