Ananya, INTERNET

ट्विटर ने एपीआई बदलाव को टाल दिया जब पता चला कि इससे त्रिपक्षीय एप काम नहीं कर पायेंगे

twitter-bricks

ट्विटर अपने मंच पर बहुत बड़ी बदलाव करने जा रही है जो उसके त्रिपक्षीय क्लाइंट (मुवक्किल) ट्विटबोट, ट्विटरिफिक, ट्विटिंग्स और टैलोन को भावी अद्यतन से बाहर कर सकती है।

ट्विटर के इन त्रिपक्षीय विकासकों ने इकट्ठा होकर आगामी एपीआई बदालवों के प्रति अपने उपयोक्ताओं को सचेत किया है कि इस बदलाव के कारण उनकी एप काम नहीं कर पायेगी। कुछ उपयोक्ता ट्विटर की आधिकारिक एप का उपयोग करने के बजाय इन त्रिपक्षीय एपों को ज्यादा तरजीही देते हैं जो आधिकारिक एप से बेहतर अनुभव देती है।

इस कदम का परिणाम यह निकला है कि ट्विटर अब इन त्रिपक्षीय मुवक्किलों के समर्थन में आ गयी है। ट्विटर ने उद्घोषणा किया है कि वह एपीआई बदलाव के लिये थोड़ा समय देगी। यह एपीआई बदलाव 19 जून, 2018 के लिये अनुसूचित है जो ट्विटर की स्ट्रीमिंग एपीआई के बदले नयी खाता गतिविधि एपीआई का उपयोग करेगी।

इसके साथ समस्या यह हुयी है कि ट्विटर ने भावी बदलाव के मद्देनजर किसी त्रिपक्षीय विकासकों को भाग लेने नहीं दिया जो उसके विकास में अहम योगदान करते हैं और इन त्रिपक्षीय एप कंपनियों के पास ट्विटर के आधिकारिक उपयोक्ता भारी संख्या में हैं।

जब यह अद्यतन क्रियान्वित हो जायेगी, तब नयी एपीआई की वजह से इन त्रिपक्षीय एपों में कुछ बंदिशें लग जायेंगी। आप इन विकासकों की व्यथा यहाँ पढ़ सकते हैं। हालाँकि ट्विटर ने इसके लिये कोई तारीख तय नहीं किया है लेकिन वह न्यूनतम 90 दिन का समय देने जा रही है जिससे इन त्रिपक्षीय एपों की समस्या जल्द सुलझने की संभावना है।

छवि स्त्रोत: pexels

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।