Ananya, SOCIAL MEDIA

लगता है कि दक्षिण-पूर्व एशिया में फर्जी ट्विटर खाते खोले जा रहे हैं

twitter user

पिछले चार महीनों से फेसबुक जिस तरह आग की तपिश से गुजर रही है, उससे आपको लगता होगा कि अन्य सामध्यमा कंपनी भी फेसबुक की गलतियाँ दोहराने से बचना चाहती होंगी। परंतु ऐसा शायद नहीं हो पा रहा है।

दक्षिण-पूर्व एशिया में फर्जी ट्विटर खातों की संख्या में भारी बढ़ोतरी देखी जा रही है पर ट्विटर इसे अनदेखा करते हुये सामान्य मान रही है। पिछले एक महीने में इन बोट खातों ने बहुत सारे प्रभावी उपयोक्ताओं को फोलो करना शुरु किया है।

 

Lulu Chen tweet about twitter bot army

इन खातों को देखने पर लगता है कि इनकी रचना इसीलिये की गयी है ताकि इनकी बिक्री की जा सकेगी या माँग के अनुसार इनका उपयोग किया जा सकेगा। इन बोट उपयोक्ताओं की बाढ़ थाईलैंड. म्यांमार, कंबोडिया, होंगकोंग, चीन, ताइवान और श्रीलंका जैसे देशों से आ रही है। हालाँकि ट्विटर ने फरवरी में इन गतिविधियों से बचने का तोड़ आजमा लिया था।

पिछले कुछ महीनों से फेसबुक इन प्रांतों में काफी विवादित साबित रही है, ऐसे में ट्विटर पर ऐसे खातों की बाढ़ आना लाजिमी है जो अबतक ऐसी किसी दुष्चक्र से बची हुयी है। ट्विटर 10 वर्ष से ज्यादा पुरानी कंपनी है और दक्षिण-पूर्व एशिया में ऐसा पहली बार हो रहा है जब उसके उपयोक्ता आधार में भारी वृद्धि हो रही है।

अभी के लिये पुष्टि होना बाकी है कि क्या ये वाकई बोट खाते हैं या लोग खुद अपनी मर्जी से ट्विटर पर साइनप कर रहे हैं।

छवि स्त्रोत: pixabay

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।