Ananya, ENTERPRISE

फर्जी विज्ञापन के मामले में फेसबुक पर इंगलैंड में मुकदमा दर्ज

facebook logo collage

अक्सर विवादों में रहने वाली फेसबुक पर इंगलैंड में एक मुकदमा दर्ज हुआ है। यह मुकदमा मार्टिन लेविस ने किया है जो वहाँ के उपभोक्ता सलाहकार हैं।

मार्टिन लेविस ने अपनी सजाल पर कहा है कि फेसबुक पर कुछ लोग उनके नाम का दुरुपयोग करके फर्जी विज्ञापन चला रहे हैं। और लाख मना करने के बावजूद फेसबुक इन फर्जी विज्ञापनों को चलने दे रही है।

लेविस कहते हैं कि फेसबुक जैसी कंपनी के लिये ऐसा करना मुश्किल काम नहीं है जो चेहराभिज्ञान (आँग्ल: फैस रिकग्निशन) और पाठाभिज्ञान (आँग्ल: टैक्स्ट रिकग्निशन) में सिद्धहस्त है।

लेविस मनीसेविंगएक्सपर्ट.कोम नामक लोकप्रिय टीका सजाल के संस्थापक हैं। बकौल लेविस, अगर जुकरबर्ग नैतिक मामलों में विजेता बनना चाहते हैं, तो उन्हें इन फर्जी विज्ञापनों से बचना चाहिये। इन विज्ञापनों की वजह से उनकी प्रतिष्ठा पर आँच आती है और लोग धोखाधड़ी के शिकार बन सकते हैं।

martin lewis fake ad on facebook

फेसबुक पर मार्टिन लेविस की फर्जी विज्ञापन

गौरतलब है कि फेसबुक ने जनवरी में अपनी विज्ञापन नीति में बदलाव करके क्रिप्टोमुद्रा, बाइनरी विकल्पों और इनीशियल कोइन ओफरिंग की विज्ञापनों को प्रतिबंधित कर दिया था। परंतु लेविस के मामले में देखा जाये, तो धोखेबाज लोग इस पाबंदी को धता बताकर आसानी से उनकी छवि का उपयोग करते हैं जिसकी वजह से लोग फर्जी खबरों पर तुरंत विश्वास कर लेते हैं।

फेसबुक इस मामले पर क्या रूख अपनायेगी, यह बोलना जल्दबाजी होगी पर फेसबुक अश्लीलता के मामले को छोड़कर अन्य विज्ञापनों में ज्यादा तत्परता से सत्यापन नहीं करती है जिसकी वजह से लेविस का मामला सामने आया है।

छवि स्त्रोत: Pixabay

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.