Ananya, INNOVATION

अब कृबु की मदद से जीवनसाथी ढूँढिये, भारतीय कंपनी ने बनाया कृबु इंजन

betterhalf ai engine

कृत्रिम बुद्धिमता विकसित दुनिया में झंडे गाड़ रही है लेकिन भारत अभी तक इस अनुक्षेत्र में पिछड़ी हुयी थी। और भारत में निर्मित बैटरहाफ कृत्रिम बुद्धिमता के जरिये पारंपरिक तौर पर होने वाली विवाह योग्य जोड़ों के चयन तरीकों को बदलना चाहती है जिनमें आप जीवनसाथी, भारत मैट्रिमोनी जैसी दिग्गज ओनलाइन सजालों को भी शामिल कर सकते हैं।

Betterhalf.AI कुछ कारकों को ध्यान में रखते हुये काम कर रही है जिनमें भावनात्मक, बुद्धिमता, रिश्ता और नैतिक मूल्य प्रमुख है। यह उन कारकों का उपयोग अपनी मशीन लर्निंग कलनिधि (आँग्ल: अल्गोरिदम) में करेगी जिसकी वजह से आपको लाखों चेहरों से होकर नहीं गुजरना होगा।

2016 में, पवन गुप्ता और राहुल नामदेव ने संयुक्त रूप से Betterhalf.AI लांच किया था। कंपनी कई बहुराष्ट्रीय कंपनियों की कर्मचारियों के आँकड़ों के साथ काम कर रही है। इसके साथ 6-स्तरीय सत्यापन प्रणाली प्रस्तुत की गयी है जिनमें फेसबुक प्रोफाइल, व्यक्तिगत ईमेल, मोबाइल संख्या, कार्य ईमेल और सरकारी पहचान पत्र शामिल है।

“हम जीवनसाथी ढूँढने के लिये दुनिया की सबसे बड़ी पूर्वानुमान इंजन बनाना चाहते हैं। हम उस दुनिया में रहते हैं जहाँ हमारे पास अमेजन, फ्लिपकार्ट से ईकोमर्स उत्पाद की सिफारिशें आती है, संगीत के लिये स्पोटिफाई, गाना, विंक से सिफारिशें आती है। अगर आप नये दोस्त बनाना चाहते हैं तो आप फेसबुक के जरिये नये दोस्त बनाते हैं। लेकिन हमारे पास जीवनसाथी ढूँढने के लिये कुछ नहीं है और इसीलिये हम यह बना रहे हैं”, पवन गुप्ता ने इंडियन एक्सप्रैस से ईमेल वार्ता करते हुये कहा।

बैटरहाफ की कृबु इंजन 5 भिन्न चरणों में प्रौद्योगिकी का उपयोग करती है – पंजीकरण के दौरान, पूर्व-वार्ता चरण, उत्पाद गैमिफिकेशन, पश्च-वार्ता चरण और मशीन लर्निंग के जरिये किसी आँकड़े का हटाव।

“इस वक्त मंच पर हजार से अधिक उपयोक्ता हैं और यह 100 प्रतिशत वृद्धि दर से बढ़ रही है। यहाँ आने वाले लोगों में 25-35 वर्षीय सदस्य ज्यादा हैं”, पवन ने इंडियन एक्सप्रैस को कहा। “हम अबतक 300 से अधिक जोड़ियाँ बना चुके हैं जो अगली कुछ सप्ताहों में 1000 का आँकड़ा पार कर सकती है।”

यदि आप बैटरहाफ पर साइनप करना चाहते हैं, तो आपको 16 व्यक्तिगत प्रश्नों का उत्तर देना होगा जो आपके लिये सही साथी पसंद करने में सहायक बनेंगे। ये प्रश्न आपके भावी साथी से जुड़ी होंगी जिनमें उम्र, लंबाई, धर्म, स्थान, शिक्षा, वेतन जैसी मानक हैं।

छवि स्त्रोत: BetterHalf.ai

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।