Ananya, ENTERPRISE

अब आप गूगल की यूआरएल लघुकरण सेवा goo.gl का उपयोग नहीं कर पायेंगे

google on browser placed on wooden table

गूगल ने उद्घोषणा किया है कि वह अपनी यूआरएल लघुकरण सेवा goo.gl बंद करने जा रही है। अब नये और गुमनाम उपयोक्ता goo.gl कंसोल के जरिये कड़ियाँ नहीं बना पायेंगे पर मौजूदा उपयोक्ता इसका उपयोग अगले एक साल तक कर सकते हैं।

यह सेवा 2009 में शुरु की गयी थी और तब से वेब काफी बदल चुकी है। लोग अंतर्जाल पर एकदूसरे के साथ सूचना साझा करते हैं और कई दफा खुली यूआरएल से पता चल जाता है कि उक्त यूआरएल में क्या हो सकता है लेकिन इन यूआरएल लघुकरण सेवाओं के आने के बाद से पता नहीं चल पाता है कि उक्त यूआरएल में क्या होगा जबतक आप उस यूआरएल को किसी ब्राउजर में नहीं खोलेंगे।

गूगल अब इसके बजाय फायरबेस डायनामिक लिंक्स पर आत्मकेंद्रित हो रही है जो उपयोक्ताओं को आईओएस, एंड्राएड या वेब एप में विशिष्ट स्थान में पुनर्निर्देशित कर देती है।

google url shortening service

मौजूदा उपयोक्ता 30 मार्च 2019 तक goo.gl कंसोल के जरिये यूआरएल को लघु करके डाटा निर्यात कर सकते हैं। इसके बाद लघुकृत कड़ियाँ अपने गंतव्य तक पुनर्निर्देशित हो जायेंगी लेकिन फायरबेस की नयी कंसोल में गमन नहीं करेगी।

छवि स्त्रोत: pexels व google

 

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।