Ananya, APPS, STARTUPS

टाइपिंगडीएनए ने क्रोम एक्सटैंशन लांच किया जो टंकण के आधार पर आपको पहचान लेती है

typingDNA homepage

टाइपिंगडीएनए नामक एक कंपनी आपकी ओनलाइन पहचान करने का एक नया तरीका खोज लायी है। आप अपने कीबोर्ड (मोबाइल और डेस्कटोप) पर कैसे टंकण (टाइपिंग) करते हैं, कंपनी इसे सत्यापित करके आपकी पहचान स्पष्ट कर सकती है। कंपनी की कृत्रिम बुद्धिमता आधारित टंकण जैवमिति (बायोमैट्रिक्स) सुरक्षित लोगिन के साथ कूटशब्द रीसैट (पुनर्स्थापित) करने का विकल्प दे रही है।

अभीतक पहचान सत्यापित करने के लिये 2-फैक्टर प्रमाणीकरण सर्वश्रेष्ठ मानी जाती रही है लेकिन इसके साथ समस्या यह है कि आपको एक समय में एकाधिक यानि दो उपकरण रखना पड़ता है ताकि आप दूसरे उपकरण पर भेजी गयी 4-अंकीय पिन को उस उपकरण पर डाल सके जिसपर आप उक्त सेवा का उपयोग करने के लिये लोगिन करना चाह रहे हैं।

यह स्टार्टप उसी 2-फैक्टर प्रमाणीकरण का नया पर्याय पेश कर रही है। कंपनी इसे सुरक्षा विशेषता कहती है जो किसी दूसरे उपकरण (सामान्यतः आपकी मोबाइल फोन) को अनूठी कोड भेजती है जिससे वह सुनिश्चित कर पाती है कि आपके बजाय कोई और आपके पासवर्ड (कूटशब्द) के साथ लोगिन नहीं कर रहे हैं।

2-फैक्टर के साथ असली समस्या क्या है, इसपर राउल पोपा टेकक्रंच को बताते हैं कि यह एक बुरी उपयोक्ता अनुभव है, कोई दूसरे उपकरण का उपयोग नहीं करना चाहते हैं। राउल टाइपिंगडीएनए के सीईओ हैं।

टाइपिंगडीएनए कंपनी उपयोक्ताओं को बगैर मोबाइल फोन बगल में रखे बिना पहचान सत्यापित करने का मौका दे रही है। इसके लिये लोग सिर्फ अपना नाम और कूटशब्द डालेंगे, तब टाइपिंगडीएनए आपकी टंकण का विश्लेषण करेगी और फिर पुष्टि करेगी कि वह शख्स आप ही हैं।

कंपनी अपने साथ भागीदारों को रखकर उनके लिये प्रौद्योगिकी बनाने पर काम कर रही है लेकिन इसके साथ कंपनी ने गूगल क्रोम ब्राउजर के लिये एक्सटैंशन भी लांच किया है जो निशुल्क उपलब्ध है। यह एक्सटैंशन जीमेल, कोइनबेस और अमेजन वेब सेवा सहित कई अहम सेवाओं पर 2-फैक्टर प्रमाणीकरण के पर्याय के तौर पर काम करती है।

यदि आप कभी किसी वजह से धीमी या तेज टंकण करते हैं, तब टाइपिंगडीएनए की ओथेंटिकेटर (प्रमाणीकारक) आपको पुनर्प्रयास करने के लिये कह सकती है।

पोपा ने टेकक्रंच को कहा कि टाइपिंगडीएनए आपकी टंकण की दो कुंजी पहलुओं को मापती है: किसी कुंजी तक पहुँचने में आपको कितना समय लगता है और आप कितनी देर तक कुंजी को दबाये रखते हैं। ये दोनों चीज अद्वितीय हैं और यह प्रणाली टंकण के आधार पर दो अलग-अलग लोगों की पहचान भिन्न करने में सक्षम है। आप खुद टाइपिंगडीएनए पर साइनप करके इसका परीक्षण कर सकते हैं।

अंत में, आप इसकी क्रोम एक्सटैंसन का उपयोग अधिकतर सजालों पर कर पायेंगे। वैसे, अधिकतर सजाल क्यूआर कोड या एप प्रमाणीकारक (गूगल जीमेल पर) का उपयोग करके पुष्टि करने की अनुमति देते हैं जिसे टाइपिंगडीएनए अवश्य हथिया सकती है।

छवि स्त्रोत: TypingDNA

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.