Ananya, ENTERPRISE, INNOVATION, INTERNET

सियेरा लियोन में ब्लोकचैन प्रौद्योगिकी से मतदान हुआ, दुनिया में पहली बार

sierra leone google map

सियेरा लियोन पश्चिमी अफ्रीका में बसी एक छोटी देश है और इसी सात मार्च को वहाँ निर्वाचन हुआ था लेकिन इस बार मंजर कुछ अलग था।

वहाँ मतदान प्रतिशत 70 रिकोर्ड किया गया लेकिन हमारे यहाँ लोग जैसे चुनावी दिनों में पंक्तिबद्ध होकर मतदान करते हैं, वहाँ ऐसा कुछ नहीं हुआ था। इस बार वहाँ ब्लोकचैन प्रौद्योगिकी की मदद से मतदान किया गया था जो इस सदी की प्रथम ब्लोकचैन आधारित निर्वाचन बन गयी है।

अगोरा टैक्नोलोजिज के लियोनार्डो गैमर ने इस प्रौद्योगिकी का विकास किया है। इस प्रौद्योगिकी के तहत गुमनामी तौर पर लोगों से मत संग्रह किया गया जिसकी वजह से निर्वाचन परिणाम तुरंत जानना सरल हो गया है।

“अगोरा की ब्लोकचैन पर लोगों का मत गुमनाम रूप से संग्रह किया जा रहा है जो समीक्षा, गणना और मान्य करने के लिये सार्वजनिक रूप से उपलब्ध है”, गैमर ने टेकक्रंच को कहा। “यह पहली बार है कि ब्लोकचैन प्रौद्योगिकी की मदद से कोई सरकारी चुनाव हो रहा है।”

“सियेरा लियोन निर्वाचन के दौरान भरोसेमंद वातावरण बनाना चाहती है और ब्लोकचैन का उपयोग करने से निर्वाचन की समीक्षा करना ज्यादा सरल है जिससे देश में स्थिरता आयेगी”, उन्होंने टेकक्रंच को कहा।

सियेरा लियोन की आबादी महज 74 लाख है और इस लिहाज से मतदान प्रक्रिया में भ्रष्टाचार कम करने के लिये बैलेट पेपर को बाहर करने के साथ निर्वाचन खर्च में कमी लाना इसका अहम उद्देश्य था। और इस ब्लोकचैन प्रौद्योगिकी के उपयोग ने इसे सफल भी बना दिया है।

गैमर के अनुसार, “हम दुनिया में अकेली कंपनी हैं जिसके पास अपनी पूर्ण ब्लोकचैन मतदान मंच है। अन्य इलेक्ट्रोनिक मतदान मशीनों में से एक ब्लोक बक्सा है जिसे संदिग्ध मान लिया गया है। इसकी वजह से, अमेरिका समेत अनेक देश कागजी मतदान पर वापसी कर चुके हैं।”

“यदि आप विश्वास करते हैं कि आज से 50 साल बाद अधिकतर देश डिजीटल मतदान की किसी प्रारूप का उपयोग करने वाले हैं, तब ब्लोकचैन ही अकेली प्रौद्योगिकी होगी जो भविष्य में हर बिंदु से सत्यापनीय एवं पूर्ण पारदर्शी मतदान समाधान देगी।”

गैमर अपनी योजना बताते हैं कि इस उत्पाद को अन्य अफ्रीकी देशों में ले जाने के बाद इसका प्रसार दुनिया के अन्य देशों में करेंगे।

हालाँकि इस निर्वाचन के बाद अस्पष्ट परिणाम आयी है जिसके बाद एक और निर्वाचन 27 मार्च को (सीएनएन खबर) होगी। इसमें जो विजेता होंगे, वह एक दशक से गद्दी संभाल रहे वर्तमान राष्ट्रपति अर्नेस्ट बाई कोरोमा की जगह लेंगे।

छवि स्त्रोत: गूगल मानचित्र

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।