Ananya, STARTUPS

लाओयाव स्टार्टप कृबु का उपयोग करके कानूनी दस्तावेज जल्द तैयार करती है

 

legal document signature

जो लोग कानूनी क्षेत्र में काम करते हैं, वे बखूबी जानते हैं कि उन्हें अधिकतर काम पुनरोपयोग्य सामग्री (दोबारा उपयोग में आने वाले कागजात) से चलाना पड़ता है। और वकीलों या उनके सहयोगियों को हर बार दस्तावेजों में मुवक्किल का नाम और पता बदलना पड़ता है।

लाओयाव नामक स्टार्टप एक सोफ्टवेर का निर्माण कर रही है जो इस प्रक्रिया को तेज कर देती है। कंपनी पिछली बार पूरी की गयी दस्तावेज को टैंपलेट (सभ्यपत्र) में बदल देती है जो वकीलों के लिये आसान बना जाती है।

यह कैसे काम करती है?

वकील अपने दस्तावेज को माइक्रोसोफ्ट वर्ड में परिवर्तित करके लाओयाव मंच पर लाते हैं। फिर वह प्राकृतिक भाषा संसाधन (प्रोसेसिंग) की मदद से तय करती है कि किस अनुभाग को बदलना जरूरी है और तब, वह उन अनुभागों में जरूरी व्यक्तिगत बदलाव कर देती है।

उदाहरणार्थ, सोफ्टवेर किसी मुवक्किल का नाम, संपर्क सूचना, स्थान और अन्य बिंदुओं को पहचानकर आसानी से बदल देती है।

यदि कोई पात्र स्वतः पहचान में नहीं आ पाती है, तब लाओयाव की सोफ्टवेर आपको स्वयं चुनने देती है जिसे सोफ्टवेर अगली बार याद रखेगी।

बेशक, लाओयाव अकेली समाधान नहीं है जो वैधानिक दस्तावेजों को स्वतः संपादित करती है लेकिन अधिकतर सोफ्टवेर समाधान जटिल दस्तावेज ग्राहकीकरण (कस्टमाइजेशन) का उपयोग करते हैं जिन्हें दशा, टैग और सिंटैक्स (वाक्यविचार) की जरूरत पड़ती है।

अबतक, हजार कानूनी कंपनियाँ इसकी सजाल पर साइनप कर चुकी हैं जिनके साथ 900 वकील सक्रिय तौर पर 24 हजार से अधिक दस्तावेजों का मसौदा तैयार कर चुके हैं।

लाओयाव का कार्यक्षेत्र अभी अमेरिका है।

स्त्रोत: Techcrunch

छवि स्त्रोत: pexels.com

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.