Ananya, APPS

गूगल तेज पर अब आप भुगतान करने के साथ चैट भी कर सकेंगे

गूगल ने पिछले साल भारत के लिये लांच की गयी गूगल तेज भुगतान एप में अब चैट की सुविधा दे दी है। यह विशेषता आपके लिये गूगल प्लेस्टोर पर एप में उपलब्ध हो गयी है जो उपयोक्ताओं को लेनदेन (ट्रांजैक्शन) से संबंधित संदेश भेजने की अनुमति देती है। यह चैट विशेषता भुगतानों की जानकारी के संदर्भ में खासी काम आयेगी।

यह गूगल की दूसरी संदेशी मंचों की तरह है लेकिन इस दफा तेज एप में चैट विकल्प का आना सिर्फ एक इत्तेफाक ही नहीं है। वाट्सेप ने पिछले महीने केवल भारत के उपयोक्ताओं के एक समूह के लिये एप के भीतर भुगतान प्रणाली का विमोचन किया था। वाट्सेप के पास फिलहाल 20 करोड़ भारतीय उपयोक्ता हैं जो देश में मोबाइल रखने वाले लोगों में अहम हिस्सेदारी रखते हैं। पेटीएम ने भी अपने एप में पिछले साल इसी तरह का चैट विकल्प जोड़ा था।

पेटीएम को तगड़ी प्रतिस्पर्धा दे रही गूगल तथा वाट्सेप दोनों आभासी बटुआ (वर्चुअल वालेट) सेवा के बजाय भारत सरकार की यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) प्रणाली का उपयोग करके सीधे बैंक खातों से पैसा ट्रांसफर करने की सुविधा देती हैं।

गूगल तेज पर अब पानी, बिजली, डीटीएच और मोबाइल बिल का भुगतान

गूगल तेज पिछले सितंबर में सिर्फ भारत के लिये लांच की गयी थी। अक्तूबर 2017 में सुंदर पिचई ने कहा था कि भारत में तेज के 75 लाख उपयोक्ताओं ने उस अवधि में 3 करोड़ से अधिक लेनदेन कर चुके थे। गूगल प्लेस्टोर पर इस एप को 1 से 5 करोड़ डाउनलोड किया जा चुका है।

गूगल ने तेज एप पर पानी, बिजली, डीटीएच के साथ मोबाइल, ब्रोडबैंड, लैंडलाइन और अन्य उपयोगी सेवाओं का भुगतान करने का समर्थन पिछले महीने जोड़ दिया है। इसके साथ उपयोक्ता भारत में करीब 80 निजी और सार्वजनिक सेवा प्रदाताओं को अपना रसीद भुगतान कर पायेंगे। इस बिल पे विशेषता में रिलायंस एनर्जी, बीएसईएस और डिशटीवी जैसी भारतीय महानगरों में सेवा दे रही कई कंपनियाँ भी शामिल हैं।

दोनों कंपनियाँ शिल्पकारी के मामले में विपरीत दिखायी पड़ते हैं – एक कंपनी चैट एप में भुगतान सेवा जोड़ रही है और दूसरी भुगतान एप में चैट विकल्प जोड़ चुकी है। हालाँकि, वाट्सेप की एप में भुगतान सेवा आधिकारिक रूप से कब आयेगी, इसके बारे में स्पष्टता नहीं है।

छवि स्त्रोत: google

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.