Ananya, ENTERPRISE, INTERNET, World

वीजा और मास्टरकार्ड ने बिटकोइन और दूसरी क्रिप्टोमुद्राओं को खरीदने का नियम सख्त किया

bitcoin-buying-made-harder-visa-mastercardपिछले सप्ताह से बिटकोइन निवेशक अपनी बैंक स्टेटमेंट (खाता) में जुड़ रही अतिरिक्त शुल्क देख रहे हैं। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि वीजा और मास्टरकार्ड दोनों ने सुविधाजनक तौर पर पहचान लिया है कि उनके नेटवर्क से बिटकोइन और अन्य क्रिप्टोमुद्रायें कैसे खरीदी जाती है!

ऐसी घटनायें क्रिप्टोमुद्रा उद्योग के लिये अल्पावधि में कई चुनौतियाँ पेश कर सकती है लेकिन ये यह भी दिखाती है कि कुछ संगठन इससे कितने भयभीत हैं।

यदि आप अभी बिटकोइन, इथेरियम या अन्य क्रिप्टोसंपत्ति खरीदना चाहते हैं तो आपके पास एकमात्र विकल्प आपकी क्रेडिट या डेबिट कार्ड होती है। आपके बैंक से धन ट्रांस्फर करने पर कम शुल्क लगता है लेकिन जल्द भुगतान की चाहत में लोग कार्ड को ज्यादा तरजीह देते हैं। एसीएच के जरिये फंड भेजने में तीन से पाँच दिन लगते हैं। क्रिप्टोमुद्रा की दुनिया में कीमतें कभीभी इधर से उधर हो जाती है और ऐसे में अगले 3-5 दिन मुश्किल से गुजरेंगे।

कोइनबेस तत्क्षण खरीदारी के लिये लंबे समय से क्रेडिट और डेबिट कार्ड स्वीकारती रही है जिसके साथ खरीदारों को 4 प्रतिशत मानक क्रेडिट कार्ड ट्रांजैक्शन शुल्क देना पड़ता है।

अब चूँकि वीजा और मास्टरकार्ड शानदार तरीके से उनके नेटवर्क पर होने वाली कोइनबेस की क्रेडिट कार्ड खरीदारियों को पुनर्वर्गित (रिक्लासिफाई) कर चुके हैं। इनके ट्रांजैक्शनों को क्रय (परचेज) के बजाय कैश एडवांस का लेबल दिया जा रहा है। शुल्क संस्थावार भिन्न होंगे पर क्रेडिट कार्ड का उपयोग करने पर आप पर 5 प्रतिशत अतिरिक्त शुल्क लगने वाला है जो कोइनबेस की 4 प्रतिशत क्रेडिट कार्ड ट्रांजैक्शन शुल्क से अलग है।

सबसे बुरी बात यह है कि कैश एडवांस मानक ब्याजमुक्त अवधि के तहत नहीं आते हैं, जैसा अन्य क्रेडिट कार्ड खरीदारियों में होता है। यदि यह ज्यादा बुरी नहीं है तो जान लीजिये कि इसका ब्याज दर भी काफी ज्यादा है – एक मामले में 25.99 प्रतिशत तक। कुछ उपभोक्ताओं के लिये, इन खरीदारियों के लिये क्रेडिट कार्ड पोइंट हासिल करना भी नामुमकिन हो जायेगा।

ऐसा लग रहा है कि दुनियाभर में सरकारें और उनकी सम्मत कंपनियाँ बिटकोइन और अन्य सभी क्रिप्टोमुद्राओं के दरवाजे बंद करने का हर प्रयास कर रही है। कार्ड से क्रिप्टो खरीदने पर ब्याज का भार झेलना अब शायद संभव नहीं होगा।

कोइनबेस ने सभी ग्राहकों को ईमेल भेजकर पुष्टि की कि अब उनकी खरीदारी पर अतिरिक्त कैश एडवांस शुल्क की वसूली होगी। मास्टरकार्ड के प्रवक्ता ने इसपर अपनी टिप्पणी किया और कहा:

“पिछले कुछ सप्ताहों से, हमने सभी को स्पष्ट बता दिया है कि इन ट्रांजैक्शनों (क्रिप्टोमुद्रा खरीदारी) को अब नये प्रकार की ट्रांजैक्शन या मर्चेंट श्रेणी माना जायेगा। यह मर्चेंट और जारीकर्ताओं दोनों के लिये इन खरीदारियों को जानना आसान हो जायेगा।”

ये बदलाव अल्पावधि में चीजों को पेचीदा बना देगी। संस्थायें इसपर अभीभी विभाजित हैं कि बिटकोइन आखिरकार है क्या?

और इसे करयोग्य संपत्ति मानते हैं। क्रेडिट कार्ड कंपनियाँ कह चुकी हैं कि बिटकोइन मुद्रा नहीं है और बिटकोइन खरीदना किसी एटीएम से नकदी निकालने की तरह है।

दोनों एकदूसरे की प्रकृति के विरूद्ध है। कोइनबेस (और संभवतः सारी विनिमयों) को अलग करके, वीजा और मास्टरकार्ड अपने तरफ से हरसंभव प्रयत्न कर रही है कि क्रिप्टोमुद्रा में लोगों के निवेश को कैसे मुश्किल, धीमी और महंगी बनाया जाये।

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।