APPS

टेलीग्राम के वेब प्लगिन से, अब कंपनियाँ सीधे टेलीग्राम एप पर उपयोक्ताओं से जुड़ जायेंगी

छवि स्त्रोत: Yalantis

संदेशी एप टेलीग्राम कुछ बड़ा कर रही है और वह अपनी ब्लोकचैन आधारित सेवाओं पर भी काम कर रही है। वाट्सेप से मिल रही प्रतिद्वंद्विता के मद्देनजर कंपनी पीछे नहीं रहना चाहती है और उसने अबतक का अपना सबसे महत्वपूर्ण अद्यतन जारी कर दिया है जो उसकी संदेशी एप पर वेब लोगिन विजेट है।

यह नयी विशेषता वेबसाइट स्वामियों (अका व्यापारियों) को उनके वेबसाइट से एक टेलीग्राम बोट की मदद से टेलीग्राम उपयोक्ताओं से जुड़ने देगी।

टेलीग्राम काफी समय से बोट पर जोर दे रही है और अब उक्त बोट को वेब प्लगिन के साथ मिलाने से एक ऐसी प्रणाली विकसित हो गयी है जो कंपनियों को चैट के जरिये ग्राहकों को सीधे अनुस्मारक (याद कराने की कोई चीज), विक्रय पुष्टि, अद्यतन और अन्य सूचनायें भेजने की अनुमति देती है।

टेलीग्राम अपनी महत्वकांक्षी आईसीओ परियोजना के तहत भुगतान प्रणाली लाना चाहती है। यह वेब प्लगिन आपको टेलीग्राम की मदद से ओनलाइन सामान खरीदने के लिये भुगतान करने में सक्षम बनायेगी जब टेलीग्राम की भुगतान सेवा चालू हो जायेगी। यह अभी बोट चैट के जरिये भुगतान का समर्थन करती है परंतु आप सोचिये कि जब टेलीग्राम के पास अपना वालेट (बटुआ) होगा, तब यह सेवा अधिक तीव्रगामी होगी।

टेलीग्राम विशेषताओं की दौड़ में आगे चल रही है पर इस वेब प्लगिन के साथ इसने धमाका मचा दिया है। फेसबुक ने पिछले साल एक प्लगिन लांच किया था जो कंपनियों को मैसेंजर एप के जरिये उपयोक्ताओं से जुड़ने देती है। फेसबुक अब व्यापार-आधारित एप विकसित करने पर ध्यान दे रही है ताकि कंपनियाँ उसके 1.5 बिलियन मासिक उपयोक्ताओं से जुड़ जाये। इसकी अपनी भुगतान प्रणाली आने वाली है। इसकी मैसेंजर एप पर 1.2 बिलियन सक्रिय उपयोक्ता हैं।

हालाँकि टेलीग्राम का उपयोक्ता आधार बढ़ रही है लेकिन वह क्रिप्टो समुदाय में ज्यादा लोकप्रिय है जो आईसीओ समुदायिक प्रबंधन हेतु एप का इस्तेमाल करती है। टेलीग्राम के पास अबतक 200 मिलियन मासिक उपयोक्ता भी नहीं हैं इसीलिये वह फेसबुक जैसी पैमानों पर पीछे दिखती है। लेकिन इसके पास वह जज्बा है और यह नयी प्लगिन इसकी अगली सभी योजनाओं को गतिमान कर सकती है।

टेकक्रंच की खबर के अनुसार, टेलीग्राम की आईसीओ श्वेतपत्र में वितरित संचिका भंडारण सेवा का उल्लेख है। यह एक प्रोक्सी (छद्म) सेवा होगी जो टोर जैसी सुरक्षित वेब ब्राउजिंग की रचना करेगी। यह एक ऐसी मंच होगी जहाँ विकेंद्रित एपों की मेजबानी के साथ छोटी भुगतानों के भुगतान और आपसी लेन-देन संभव हो पायेगी।

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.