Ananya, APPS, Art of Technology, ENTERPRISE, World

स्टोरीलाइन बगैर कोडिंग के आपको अलैक्सा स्कील बनाकर प्रकाशित करने देती है

अब आप बगैर कोडिंग के अलैक्सा स्कील बनाकर प्रकाशित कर पायेंगे। इसमें आपकी मदद स्टोरीलाइन नामक कंपनी करेगी।amazon-alexa-storyline-user-interface

दुनियाभर में करोड़ों लोग अब स्मार्ट स्पीकर उपकरण का इस्तेमाल करते हैं पर वोयस एप तंत्र अभीभी विकासरत है। अभी एलैक्सा के पास 25 हजार से अधिक स्कील उपलब्ध है पर कई कंपनियाँ अबतक ऐसा मंच नहीं बना पायी है या कुछ अच्छे से काम नहीं करती है।

और यही पर स्टार्टप स्टोरीलाइन की बारी आती है। कंपनी अमेजन अलैक्सा स्कील बनाने हेतु उपयोग में आसान, ड्रैग-एंड-ड्रोप विजुअल इंटरफेस (चाक्षुक अफलक) पेश कर रही है जिसके लिये आपको प्रोग्रामिंग जानने की जरूरत नहीं है।

कंपनी इसे ऐसे वर्णित करती है कि वे वोयस एपों के लिये वीबली बना रहे हैं। वीबली एक ड्रैग-एंड-ड्रोप वेबसाइट निर्माण मंच है जो गैर-विकासकों को बगैर कोडिंग के वेबसाइट बनाने का लोकप्रिय तरीका देती है।

स्टोरीलाइन की स्थापना सितंबर 2017 में वसिली शिंकरेंका (सीईओ) और माक्जिम अब्रामचुक (सीटीओ) द्वारा की गयी है। ये दोनों बेलारूस से हैं। इससे पहले, ये दोनों एक सोफ्टवेर विकास एजेंसी चला चुके हैं जो चैट-आधारित अप्लिकेशन बनाती थी। इसमें वे अपने मुवक्किलों के लिये चैटबोट और वोयस एप बनाते थे।

वसिली कहते हैं कि उनके पिछली कामों ने उन्हें स्टोरीलाइन तक पहुँचा दिया है।

storyline homepage

स्टोरीलाइन मुखपृष्ठ

वह कहते हैं कि पहले वार्ताकारी एप के निर्माण में काफी संघर्ष करना पड़ता था। वे जानते थे कि रचनात्मक लोग और सामग्री रचनाकार कोड लिखने में सिद्धहस्त नहीं हैं। यही उनकी अहम परख थी।storyline introduction page after logged in to the page

कंपनी ब्रांडों, व्यापारों और व्यक्तिगतों को लक्षित कर रही है जो अपने ग्राहकों तक पहुँचना चाहते हैं या प्रकाशकों के मामले में, उनके पाठकों तक – अलैक्सा जैसी वोयस मंच का उपयोग करके, और बाद में गूगल होम का।

सोफ्टवेर को बहुत सरल बनाया गया है और इसका उपयोग कस्टम स्कील या फ्लैश ब्रिफिंग के तौर पर हो सकता है। वसिली के अनुसार, अधिकतर मौलिक स्कील के लिये केवल पाँच से सात मिनट लगते हैं।

स्टोरीलाइन पर शुरु होने के लिये, आपको साइनप करना होगा और फिर आपको चुनना होगा कि आप किस प्रकार की स्कील बनाना चाहते हैं – फ्लैश ब्रिफिंग या कस्टम स्कील। फिर आप स्कील की नाम और भाषा जैसी कुछ मौलिक सूचना देते हैं और वह कैनवास में लांच हो जाती है जहाँ आप स्कील की वार्ताकारी वर्कफ्लो (कार्यप्रवाह) रच सकते हैं।

यहाँ आप इंटरफेस का उपयोग करके आगे बढ़ते हैं।

जब आप खत्म करते हैं, तब आप किसी ब्राउजर में प्ले बटन क्लिक करके स्कील का परीक्षण कर सकते हैं। इस तरह आप सुन सकेंगे कि स्कील कैसे सुनायी देती है और विभिन्न उपयोक्ता प्रतिसादों का परीक्षण करती है।

जब आप स्कील से संतुष्ट हो जायेंगे, तब आप डिप्लोय बटन दबाकर प्रकाशित करने के लिये तैयार रहेंगे। यह आपको अमेजन पर पुनर्निर्देशित कर देती है जहाँ आपको अपने अमेजन खाता में लोगिन करना पड़ता है। और आप प्रकाशित करने से सिर्फ एक कदम दूर रहते हैं। (यदि आपके पास कोई अमेजन विकासक खाता नहीं है, तो स्टोरीलाइन आपको खाता बनाने में मदद करेगी।)

इस तरह की चाक्षुक कौशल विकास प्रणाली (विजुअल स्कील डेवलपमेंट सिस्टम) के प्रबंधन में सहुलियतें मिलती है जिनमें प्रश्नों और प्रतिसादों (रिस्पोंस) की सीमित संख्या होती है परंतु स्टार्टप कहती है कि कई एडवांस स्कीलों को उसकी सेवा का उपयोग करके बनाया जा चुका है।

इसका उपयोग अलैक्सा स्कील चैलेंज: कीड्स में दो फाइनलिस्टों द्वारा भी किया गया था।

अक्तूबर 2017 में स्टोरीलाइन की प्रथम संस्करण की लांच के बाद 3000 लोग खाता बना चुके हैं और लगभग इतनी ही स्कील बना (/रच) चुके हैं। इनमें से 200 अमेजन की स्कील स्टोर पर लाइव भी हो चुके हैं।

स्टोरीलाइन ऐसी अकेली कंपनी नहीं है जो इन दिनों व्यापारों को बगैर कोडिंग के वोयस एप बनाने में मदद करती है।

उदाहरणार्थ, सैजस्प्रिंग डिजाइनरों को बगैर कोडिंग के वोयस-सक्षम एप बनाने देती है किंतु सीधे स्कील प्रकाशित करने नहीं देती है। यह वोयस एप रचना की प्रक्रिया में पहली कदम मानी जाती है। यहाँ डिजाइनर देख सकते हैं कि कोई स्कील कैसे काम करेगी जिसके बाद वे किसी विकास दल को कोड बनाने हेतु भेज सकते हैं।

वसिली कहते हैं:

प्रोटोटाइप औजार अच्छे हैं जब आप अपने आइडिया को साकार होते दिखाते हैं। आप उसे व्याख्यायित और प्ले कर सकते हैं पर उपयोक्ताओं को अपने साथ बनाये रखना बहुत मुश्किल है। ऐसा इसलिये मुश्किल है क्योंकि वे प्रोटोटाइप करने के लिये औजारों का उपयोग करते हैं। स्टोरीलाइन के साथ ग्राहक प्रक्रिया की शुरुआत से लेकर अपने वोयस एप में सुधार लाने तक रह सकते हैं।

वसिली जोड़ते हैं कि जब कोई स्कील प्रकाशित हो जाती है, तब हम उसकी आँकड़ों का इस्तेमाल करके डिजाइन समुन्नत (सुधार) कर सकते हैं।

छवि स्त्रोत: स्टोरीलाइन

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।