Ananya, ENTERPRISE, PC/LAPTOPS

माइक्रोसोफ्ट ने गलती से आर्म प्रोसेसर आधारित विंडोज 10 कंपूटर का विवरण दिखा दिया

microsoft ceo shri satya nadela

माइक्रोसोफ्ट ने दिसंबर में आर्म प्रोसेसर पर आधारित विंडोज 10 कंपूटरों को लांच किया था जो दिनभर चलने में सक्षम होगी। हालाँकि आर्म प्रोसेसरों पर आधारित एचपी, आसुस और लेनोभो की कंपूटर अबतक बाजार में नहीं आ पायी हैं और हमें विंडोज 10 चालित इन कंपूटरों की कमियों के बारे में भी जानना बाकी है।

माइक्रोसोफ्ट ने कुछ दिनों पहले सीमाओं की एक पूरी तालिका प्रकाशित की थी जो पहली दफा थरोट की नजर में आयी थी। इसमें जिक्र था कि आर्म आधारित इन विंडोज 10 उपकरणों से क्या-क्या अपेक्षायें रखी जा सकती हैं। यह तालिका दुर्घटनावश प्रकाशित हो गयी होगी क्योंकि माइक्रोसोफ्ट ने इसका पता चलते ही हटा लिया था। और अब केवल इसकी कैशे प्रति ही अंतर्जाल पर उपलब्ध है।

  • केवल आर्म64 समर्थित। आर्म पर विंडोज 10 में आप सिर्फ 32-बिट एप चला सकेंगे किंतु यह 32-बिट ड्राइवरों का उपयोग नहीं कर पायेगी। यह अधिकतर हार्डवेर के लिये समस्या नहीं बनेगी पर यदि आपके पास पुरानी उपांतीय (पेरिफेरल) है, तब आपके लिये ड्राइवर समर्थन उपलब्ध नहीं हो पायेगी। आर्म पर विंडोज 10 की ड्राइवर समर्थन अधिक सीमित रहेगी और इसके पास वही विशेषतायें होंगी जो विंडोज 10एस के पास है।

 

  • 64-बिट एप समर्थित नहीं। यह हमलोग पहले से जानते हैं लेकिन आर्म पर विंडोज 10 में 64-बिट एपों की सिमुलेशन भी समर्थित नहीं है। माइक्रोसोफ्ट इसे शायद भविष्य में अपने अद्यतनों के लिये सुरक्षित रख रही होगी।

 

  • कुछ गेम और एप काम नहीं करते। माइक्रोसोफ्ट का कहना है कि वैसी गेम और एप जो ओपनजीएल 1.1 की बाद के संस्करणों का उपयोग करते हैं अथवा जिन्हें हार्डवेर-त्वरित ओपनजीएल की जरूरत पड़ती है, आर्म पर विंडोज 10 में काम नहीं करेंगे। जो गेम एंटीचिट प्रौद्योगिकियों का उपयोग करते हैं, वे भी इसपर नहीं चल पायेंगे।

 

  • विंडोज अनुभव को बेहतर बनाने वाली एपें सहीतया काम नहीं करेंगी। सहयोगी प्रौद्योगिकी या इनपुट पद्धति संपादकों जैसी एप इसपर सही से काम नहीं करेंगी। इसके साथ जिन एपों में शैल विस्तारण (आइकन और फाइल एक्सप्लोलर में राइट-क्लिक मेनू) ड्रोपबोक्स जैसी होंगी, वे भी असफल हो सकती हैं। इन एपों को आर्म प्रोसेसर आधारित बनाने की जरूरत पड़ेगी, तभी ये एप इसपर चल पायेंगे।

 

  • ऐसी एप जो यह मानेंगी कि सभी आर्म-आधारित उपकरण विंडोज की मोबाइल संस्करण चला रही हैं, सहीतया नहीं चल सकेंगी। जिन एपों को विंडोज फोन के लिये तैयार किया गया है, वे भी सहीतया काम नहीं कर सकेंगी और गलत रूप से दिखायी दे सकती है या अफलक लेआउट समस्या भी हो सकती है। वैसे, इन एपों की संख्या ज्यादा नहीं है।

 

  • विंडोज हाइपरभाइजर प्लेटफोर्म आर्म पर समर्थित नहीं। आप आर्म पर विंडोज 10 में हाइपर-भी के उपयोग से आभासी मशीनें (वर्चुअल मशीन) नहीं चला पायेंगे।

उपरोक्त वर्णित विशेषतायें आम विंडोज उपयोक्ताओं के लिये ज्यादा जरूरी नहीं होती है। इस तरह, आर्म पर विंडोज 10 सामान्य एपों और घटनाओं को समर्थन देती है। माइक्रोसोफ्ट की इमुलेशन कार्य आपको वेब से अधिकतर 32-बिट निष्पाद्य (*.exe) संचिकाओं को डाउनलोड करने की अनुमति देती है जिसे आप आर्म-संपन्न विंडोज 10 लैपटोप पर संस्थापित कर सकेंगे।

इन उपकरणों में वाकई कुछ असंगतियाँ हैं, जैसेकि ऊपर बतायी गयी है किंतु लगभग सारी एप आपके उपकरण पर चल सकेगी। हम भी आपलोगों के साथ प्रतीक्षा कर रहे हैं जब हम आर्म-संपन्न विंडोज 10 लैपटोप को देख सकेंगे कि उसकी बैटरी वाकई इतनी दमदार है जैसा वादा किया गया है और डेस्कटोप एपों की प्रदर्शन कैसी रहेगी।

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।