Ananya, ENTERPRISE, INDIA

बिटकोइन की तरह जियोकोइन भी होगी लांच, अंबानी बना रहे हैं योजना

जियोकोइन उपलब्ध होने से देश में क्रिप्टोमुद्राओं की लोकप्रिय स्वीकार्यता मिल सकेगी।Reliance Jio-bitcoins-Jio Coin

दुनियाभर में कई लोग बिटकोइन जैसी कई क्रिप्टोमुद्राओं और क्रिप्टोसंपत्तियों में निवेश कर रहे हैं। हमारे देश से भी कई लोगों ने इसमें निवेश लगाया है।

खबर मिली है कि मुकेश अंबानी भी ऐसी क्रिप्टोमुद्रा लाने की किसी योजना पर काम कर रहे हैं। इसपर काम शुरु हो चुका है।

दुनियाभर में बिटकोइन की सफलता से प्रेरित होकर रिलायंस ने यह फैसला किया है। इस नयी क्रिप्टोमुद्रा का नाम जियोकोइन हो सकता है। इसके लिये रिलायंस की एक दल इस परियोजना से संबंधित सारी जानकारियाँ जुटाकर अनुसंधान का काम कर रही है।

50 लोगों की दल ब्लोकचैन प्रौद्योगिकी पर कार्यरत है जिसका नेतृत्व मुकेश अंबानी के सुपुत्र आकाश अंबानी कर रहे हैं।

बिटकोइन पर पूरी दुनिया में बहस चल रही है। इसके निवेश के तरीकों पर भी संदेह जताया जाता रहा है। इस डिजीटल मुद्रा पर दक्षिण कोरिया में प्रतिबंध लग चुका है। इसके कारोबार को बेहद संवेदनशील और अस्थायी माना जाता है जिसके कारण इन मुद्राओं की मूल्य में कभीभी घटबढ़ हो सकती है।

एक वक्त शिखर पर रहनेवाली बिटकोइन की कीमत में गिरावट देखी जा रही है। आज बिटकोइन की मूल्य $6,000 तक आ गयी है जो पिछले महीने की $17,150 की मूल्य से 65 प्रतिशत कम हो चुकी है।

पढ़ें: बिटकोइन की कीमत $6,000, सिर्फ एक महीने में 65 प्रतिशत गिरी

भारत में क्रिप्टोमुद्रा संबंधी नियमन की व्यवस्था नहीं होने के कारण ऊहापोह की स्थिति है। हालाँकि वित्तमंत्री ने अपने बजट भाषण में सख्त लहजे में चेता दिया था कि क्रिप्टोसंपत्तियों में निवेश खतरनाक होने के साथ गैरकानूनी भी हो सकती है। जेटली ने स्पष्ट कहा था कि देश में क्रिप्टोमुद्रा को अबतक वैध दर्जा नहीं मिली है। रिजर्व बैंक ने भी इसपर कोई ठोस स्पष्टीकरण नहीं जारी किया है।

पढ़ें: वित्तमंत्री ने बिटकोइन पर चेताया, किंतु स्पष्ट कानून की तस्वीर बनाने से बचे

क्रिप्टोसंपत्तियों में निवेश जोखिम पर रिलायंस की ओर से कोई बयान नहीं मिली है। जियोकोइन को लेकर सरकार और निवेशकों का क्या रूख होगा, यह सवाल बहुत गहरी है। अगर कंपनी जियोकोइन लांच करती है तो कंपनी पर भरोसा करनेवाले इसमें जोर आजमाईश करना जरूर पसंद कर सकते हैं।

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.