ENTERPRISE

ड्रोपबोक्स की आईपीओ आयेगी, सार्वजनिक कंपनी बनेगी

ड्रोपबोक्स उपयोक्ताओं के लिये एक अच्छी खबर आयी है और यह है कि कंपनी की आईपीओ संबंधी संचिका दाखिल हो चुकी है।

इस दौर में ड्रोपबोक्स के नवोदय से प्रौद्योगिकी उद्योग को खासा उम्मीदें है। इसकी आईपीओ का इंतजार पिछले कई वर्षों से किया जा रहा था। यह क्लाउड स्टोरेज (मेघ भंडारण) कंपनी 2007 से है और अबतक $600 मिलियन से अधिक कोष जुटा चुकी है।

कंपनी की वृद्धि दर पिछले वर्षों में उल्लेखनीय होने के कारण 2014 में $10 बिलियन मूल्य की हो गयी थी। ऊपर से, यह एसएएएस (“सोफ्टवेर-एज-अ-सर्विस” या “सोफ्टवेर बतौर सेवा”) युग की उस काल के दौरान बढ़ रही थी जब राजस्व और बाजार की समझ उतनी परिपक्व नहीं थी।

कंपनी इसे गोपनीय ढंग से पहले दायर कर चुकी थी लेकिन कंपनी ने अब इसका खुलासा किया है। इसका अर्थ है कि इसकी आईपीओ के मार्च-अप्रैल तक आने की संभावना है।

कंपनी ने बाजार से $500 मिलियन जुटाने का लक्ष्य रखा है लेकिन यह संख्या महज एक ईंट है। यह संचिका दिखाती है कि ड्रोपबोक्स ने पिछले वर्ष $1.1 बिलियन का राजस्व अर्जित किया था। यह पिछले साल की $845 मिलियन और 2015 की $604 मिलियन से बढ़ी रकम है।

हालाँकि, कंपनी अभी लाभदायक नहीं है। इसने पिछले साल $112 मिलियन का नुकसान झेला। हालाँकि, यह पिछले साल की $210 मिलियन और 2015 की $326 मिलियन से कम है।

कंपनी के पास फ्रीमियम मोडल है जिसके तहत 11 मिलियन भुगतान उपयोक्ता हैं और 500 मिलियन से अधिक पंजीकृत उपयोक्ता इसकी मेघ सेवा का उपयोग मुफ्त में करते हैं। इसकी औसत राजस्व प्रति भुगतान उपयोक्ता $111.91 है।

कंपनी नैस्डैक पर तालिकाबद्ध हो रही है और इसका संकेत DBX होगा।

बड़ा सवाल यह है कि कंपनी जिस तरह निजी कोष से धन जुटाने में सफल हो पायी है, उसी तर्ज पर सार्वजनिक रूप से धन जुटाने में सफल होगी लेकिन यह जानने के लिये हमें इसके आईपीओ के आने का इंतजार करना पड़ेगा।

ड्रोपबोक्स की सार्वजनिक होने पर सबकी निगाहें गड़ी हुयी है क्योंकि कई निवेशक इसे अन्य प्रौद्योगिकी कंपनियों के लिये शुभ संकेत मान रहे हैं। स्पोटिफाई भी इसी समय सार्वजनिक होने पर विचार कर रही है।

छवि स्त्रोत: dropbox.com

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।