Ananya, APPS, ENTERPRISE

अमेरिकी सेना स्ट्राभा एप की निजता संबंधी मामले की समीक्षा कर रही है

अमेरिकी सेना एक ओनलाइन तंदरुस्ती एप की समीक्षा कर रही है जो अपने उपयोक्ताओं की तंदरुस्ती गतिविधि दिखाती है। इस एप की एक विशेषता – हीटमैप – दुनियाभर में सैन्य ठिकानों का पता दिखा रही है। सेना बेतार उपकरणों और एप उपयोग से संबंधी नियमों की समीक्षा कर रही है।american-army-camp-shown-on-strava-heatmap

इस सप्ताहांत, अस्ट्रेलियाई विद्यार्थी नाथन रसर को पता चला कि स्ट्राभा उपयोक्ताओं के ट्रैल से कुछ देशों में सैन्य ठिकानों को – विशेषकर अमेरिका जैसे देश का, जो अफगानिस्तान, इराक, सोमालिया और सीरिया जैसे देशों में अभियान छेड़े हुये हैं – पहचानना संभव है।

एक अमेरिकी सैन्य प्रेस कार्यालय ने वाशिंगटन पोस्ट से कहा कि एप और उपकरणों से संबंधित निजता (प्राइवेसी) सैटिंग को मौजूदा नियमों के हिसाब से प्राइवेसी स्नाफू कहा जाता है और अपने ठिकानों में स्थित कमांडरों को मौजूदा नियमों का पालन करने को कहा गया है।

अचंभा तब हुआ जब यह निश्चित हो गयी कि स्ट्राभा की हीटमैप सक्रिय सैन्य ठिकानों की हाईलाइट दिखा कर रही थी – एप का उपयोग करने वाले सैनिकों और उनके आसपास की सुविधाओं की सक्रियता स्तर दिखाकर।

स्ट्राभा को उसकी निजता सैटिंग के लिये काफी समय से आलोचना का सामना करना पड़ रहा है, हालाँकि इस मोर्चे पर यह अकेली खड़ी है जहाँ प्रौद्योगिकी सेवाओं का संबंध है। स्ट्राभा एक ओनलाइन तंदरुस्ती एप है जिसके जरिये उपयोक्ता अपनी तंदरुस्ती को ओनलाइन दुनिया के हर हिस्से से ट्रैक कर सकते हैं और जरूरत पड़ने पर अपनी उपस्थिति भी दिखा सकते हैं।

जिन उपयोक्ताओं ने एप में संवर्धित निजता विकल्प चुना था, उनकी गतिविधि आँकड़ों को भी सार्वजनिक हीटमैप में शामिल कर दिया गया था।

जब कंपनी ने पिछले साल वैश्विक हीटमैप विशेषता का नवीनतम संस्करण लांच किया था, तब उसने कहा था कि इसमें 27 बिलियन किलोमीटर का आँकड़ा शामिल है जिनमें से सिर्फ उन्हीं जगहों को बारंबार दिखाया गया था जो दुनियाभर में खेलने (/खेल) के लिये अतिव्यापी वांछित स्थान थे।

तब यह जाहिर नहीं हुआ कि दुनियाभर में कम वांछित स्थानों में संवेदनशील निजता सूचनायें भी हो सकती हैं। स्ट्राभा में उपयोक्ताओं को गर्मी के हिसाब से चुनना पड़ता है और स्ट्राभा की निजता संबंधी भ्रामक सैटिंग ने इसे कुछ दिनों के लिये गर्त में धकेल दिया।

सो, यदि आपलोग निजता संबंधी पाठ पढ़ना चाहते हैं तो स्ट्राभा मामले का अध्ययन कर लीजिये। तब आपको पता चलेगा कि निजता संबंधी चिंतायें क्यों जरूरी हैं। स्ट्राभा ने इस समस्या को बहुत खूबसूरती से जगजाहिर किया है!

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.