Ananya

दक्षिण कोरियाई अभियोजक एपल की आईफोन बैटरी विवाद की पड़ताल कर रहे हैं

दक्षिण कोरिया की सियोल केंद्रीय जिला अभियोजक कार्यालय पुरानी बैटरियों पर चालित आईफोनों की गिरती प्रदर्शन की पड़ताल कर रही है।  कंपनी की किसी आईओएस अद्यतन की खराब संदेशी के कारण मोबाइल अनपेक्षित बंद (शटडाउन) हो जाती थी – एक बदलाव जो आईफोन की प्रदर्शन कमतर करती थी — पिछले वर्ष इसपर काफी विवाद हुआ।

यह नयी जाँच एपल के खिलाफ सियोल की सिटिजन्स यूनाइटेड फोर कंज्यूमर सवर्निटी द्वारा दायर शिकायत के बाद शुरु हुयी है जिसमें कहा गया है कि कंपनी उपयोक्ताओं से उनका आईफोन जबरदस्ती अपग्रेड (उन्नयन) करवाना चाहती है इसीलिये उनका फोन धीमा कर रही है। एपल ने इस आरोप से इन्कार किया है और पिछले सप्ताह मुख्य कार्यकारी टिम कुक ने एबीसी न्यूज से कहा था “हम सभी से क्षमा माँगते हैं जिन्हें लगता है कि हमने कुछ ऐसा किया।” इस प्रकरण पर कंपनी ने अपने सजाल पर एक खुला पत्र प्रकाशित किया और बैटरी रीप्लेसमेंट शुल्क 29 डोलर कर दिया।

कुक यह भी बोले कि आगामी आईओएस अद्यतन बैटरी स्वास्थ्य से जुड़ी अधिक जानकारी देगी और ग्राहकों को प्रदर्शन थ्रोटलिंग अक्षम करने देगी। ऐसा करने से उपयोक्ता अनुभव अप्रभावित रहेगी किंतु शटडाउन जोखिम बढ़ सकती है जब बैटरी पर्याप्त होगी।

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।