AMERICA & AUSTRALIA, Ananya, ENTERPRISE, INNOVATION, STARTUPS, TECHNOLOGY

आपके लिये पेश है बिल्कुल नयी सेल्फ ड्राइविंग कार, गूगल के दो पूर्व कर्मचारियों ने तैयार किया है

नूरो पूरी तरह चालकहीन (ड्राइवरलेस) प्रोटोटाइप है जो लास्ट-माइल डिलीवरी पर केंद्रित है।

Nuro-new-startup-self-driving-tech-for-delivery-van

सड़क पर नूरो की प्रोटोटाइप कार

छवि: नूरो

बाजार में एक नयी स्टार्टप आ चुकी है जो आज की बदलती परिवहन व्यवस्था को पूरी तरह बदलने का वादा करती है। नूरो, गूगल के दो पूर्व कर्मचारियों द्वारा स्थापित कंपनी है जिन्होंने प्रसिद्ध सेल्फ-ड्राइविंग परियोजना पर कार्य किया था। नूरो न सिर्फ रोबोट टैक्सियों या स्वचालित ट्रकों के पुनर्विन्यास (रिकन्फिगरिंग) पर काम कर रही है बल्कि वह वाहन की नयी प्रकार का डिजाइन कर रही है।

नूरो ऐसी डिलीवरी (सुपुर्दगी) पर आधारित है जो धीमी गति के स्थानीय लक्ष्य होंगे: किराना, कपड़े, आदि। स्टार्टप सोचती है कि इन सेवाओं को स्वचालित करने से लास्ट-माइल डिलीवरी में बढ़ोतरी होगी। इससे यातायात दुर्घटनाओं में घटोतरी होने के साथ स्थानीय बिजनसों को अमेजन युग में अधिक प्रतिस्पर्धी होने का मौका मिलेगा।

रोबोटिक्स, सेल्फ-ड्राइविंग कारों और ई-कोमर्स के संयोजन ने डिलीवरी की चुनौतियाँ बढ़ा दी है। उपभोक्ता पहले से अधिक ओनलाइन खरीदारी कर रहे हैं। इधर, कई कंपनियाँ अपनी परियोजनाओं पर काम कर रही हैं जो लास्ट-माइल डिलीवरी पर आधारित है।

इस मामले में नूरो अलग तरह से काम कर रही है। कंपनी की ओटोमैटेड कार में पारंपरिक नियंत्रणों, जैसे स्टीयरिंग व्हील, फुट पैडल और गियर शिफ्ट नहीं है। इसमें ड्राइवर सीट भी नहीं है क्योंकि इस कार को इंसानों द्वारा चलाने के लिये नहीं बनाया गया है।

कंपनी के अनुसार, उसकी वाहन रिमोट ओपरेशन (सुदूर संचालन) हेतु डिजाइन की गयी है। किंतु रियल-टाइम में सिग्नल लैटेंसी और अन्य मुद्दे भी हैं। सार्वजनिक उपलब्धता हेतु, नूरो छः सेल्फ-ड्राइविंग कारों का उपयोग आँकड़ा संग्रह तथा मार्गों को ओप्टिमाइज करने के लिये करेगी जिसका इस्तेमाल अगली प्रोटोटाइप वाहनों में होगा।

नूरो ने कैलिफोर्निया डीएमवी से एक परमिट प्राप्त कर लिया है और इस साल तक सड़कों पर अपनी कारों का परीक्षण आरंभ कर देगी। इससे पहले, कंपनी को अमेरिकी राष्ट्रीय राजमार्ग यातायात प्रशासन से भी इजाजत लेनी होगी क्योंकि वर्तमान नियमानुसार मानवमुक्त ड्राइविंग पूर्णतः निषेध है।

फर्गुसन और झू कंपनी के संस्थापक सदस्य हैं जो ओटोनोमस ड्राइविंग के बारे में औरों से बेहतर जानते हैं। ढू गूगल की सेल्फ-ड्राइविंग दल के संस्थापक इंजीनियरों में से एक थे जबकि फर्गुसन उस दल में सोफ्टवेर इंजीनियर थे। दोनों ने साथे गूगल छोड़ दिया जब उनके मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी क्रिस उर्मसन ने गूगल छोड़कर अपनी सेल्फ-ड्राइविंग कंपनी, ओरोरा शुरु किया।

नूरो अबतक 92 मिलियन डोलर जुटा चुकी है और संभावित भागीदारी के लिये कई रिटेलरों और डिलीवरी प्रदाताओं से इसकी वार्ता चल रही है। इसके साथ यह भी परिणाम हो सकता है कि नूरो अमेजन जैसी कंपनी द्वारा खरीद ली जायेगी। सेल्फ-ड्राइविंग प्रौद्योगिकी विकसित करने की दौड़ ने पिछले कुछ सालों में कई विलय (मर्जर) और अधिग्रहण देख लिया है जिसका भविष्य गर्भ में है।

बकौल फर्गुसन, नूरो लोगों को ढोने के बजाय सामानों की ढुलाई (डिलीवरी) पर काम कर रही है और इस तरह, वह भीड़ से अलग हो जाती है।

स्त्रोत: वर्ज

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.