AMERICA & AUSTRALIA, Ananya, ENTERPRISE, INDIA, SOCIAL MEDIA

फेसबुक ने अपने मंच पर सभी क्रिप्टोकरेंसी विज्ञापनों को प्रतिबंधित किया

फेसबुक ने उपयोक्ताओं की सुरक्षा का हवाला देते हुये क्रिप्टोकरेंसी विज्ञापनों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

bitcoin-ICO

बिटकोइन की प्रतीकात्मक चित्र

फेसबुक ने कहा कि वह क्रिप्टोकरेंसी उत्पादों एवं सेवाओं संबंधी हर विज्ञापन को अवरुद्ध (ब्लोक) करेगी।

कंपनी बोली कि वह प्रौद्योगिकी की समर्थक है पर अनेक कंपनियाँ सद्भावना के साथ काम नहीं कर रही हैं। सद्भावना की यह कमी आभासी करेंसियों (मुद्राओं) के बढ़ते अविश्वासी चलन के संदर्भ में है।

हालिया दौर में, बिटकोइन की बढ़ती मूल्य को देखते हुये कई नयी मुद्रायें आ चुकी हैं।

फेसबुक ने उपयोक्ताओं से आग्रह किया है कि वे हर उस विज्ञापन की रिपोर्ट करे जिसे कंपनी की सुरक्षा समिति ने भूलवश छोड़ दिया।

कंपनी ने स्वीकारा कि वह क्रिप्टोकरेंसी की हर विज्ञापन पर ध्यान नहीं देगी।

फेसबुक बिजनस के उत्पाद प्रबंधन निदेशक रोब लेदर्न के अनुसार, “हमलोग चाहते हैं कि लोग फेसबुक एड्स के जरिये नयी उत्पादों और सेवाओं को बगैर किसी घोटाले या दुर्भावना के देख सके। यहाँ अनेक कंपनियाँ हैं जो बाइनरी विकल्पों, आईसीओ और क्रिप्टोकरेंसियों का विज्ञापन कर रही हैं जो सद्भावना के विपरीत हैं।”

इनीशियल कोइन ओफरिंग की संख्या में बढ़ोतरी बनी सिरदर्द

आईसीओ – इनीशियल कोइन ओफरिंग – लोगों को नयी क्रिप्टोकरेंसी लांच होने से पहले ही खरीदने के लिये प्रोत्साहित करती है; इस आस में कि जब वह लोकप्रिय हो जायेंगी, तब उनके भाव आसमान में होंगे।

कुछ कंपनियों ने आईसीओ के जरिये काफी मात्रा में धन जुटाया है लेकिन पारंपरिक निवेश चैनलों के विपरीत यहाँ उनपर कोई नियामकीय (रेगुलेटरी) जिम्मेदारी नहीं है।

इसके कारण, अनेक आईसीओ गायब भी हो चुके हैं क्योंकि यहाँ लगाया गया आपका पैसा नयी कंपनी में आपको हिस्सेदारी नहीं देती है।

धोखाधड़ी की समस्यायें

फेसबुक एड्स का उपयोग करके किसी नयी स्कीम का बहुप्रचार करना प्रभावी पद्धति है, विशेषकर जब आपके कोई सेलिब्रिटी हो। सेवानिवृत्त मुक्केबाज फ्लोएड मैवेदर को पिछले साल एक क्रिप्टोकरेंसी का प्रचार करने के कारण आलोचना झेलनी पड़ी थी जो बाद में धोखाधड़ी के कानूनी मुकदमे में फँसे। इस मामले में मैवेदर को व्यक्तिगत तौर पर आरोपी नहीं बनाया गया है।

दक्षिण कोरिया और चीन में आईसीओ के जरिये धन जुटाना प्रतिबंधित हो चुकी है और दूसरी देशों की नियामकें भी इस क्षेत्र में पैर पसारने को अग्रसर है।

अमेरिका में इसी सप्ताह एक कंपनी कुर्क (सीज) हो गयी जब यह पता चला कि उसने आईसीओ से 600 मिलियन डोलर जुटाया था।

फेसबुक ने कहा कि इसकी नयी नीति समयातीत होगी और इसमें समयनुसार बदलाव किये जाते रहेंगे।

उसने कहा कि विज्ञापन ऐसे उत्पादों या सेवाओं के प्रचार हेतु नहीं हैं जो गलत उद्देश्य से लोगों को गुमराह करते हैं, जैसे बाइनरी विकल्प, इनीशियल कोइन ओफरिंग, या क्रिप्टोकरेंसी।

बकौल फेसबुक, नयी नीति के तहत, इन युग्मों “New ICO! Buy tokens at a 15% discount NOW!” or “Use your retirement funds to buy Bitcoin!” के साथ प्रचार करने की अनुमति नहीं होगी।

फेसबुक का यह ताजा कदम उसकी विज्ञापन मंच की अखंडता पर उठ रहे सवालों का जवाब है जो पिछले 12 महीनों से रूसी दुष्प्रचार और अन्य अनुपयुक्त सामग्री की उपलब्धता से आग में झुलस रही है।

छवि स्त्रोत: Crypto-News.net

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।