Ananya

मलाला युसूफजई की बालिका शिक्षा मुहिम को समर्थन देगी एपल

एपल के समर्थन से, मलाला निधि 1 लाख बालिकाओं को माध्यमिक शिक्षा दिलाने की अपनी मुहिम को पूरा कर सकेगी।

एपल ने 21 जनवरी (रविवार) को उद्घोषणा की कि उसने मलाला युसूफजई की गैर-लाभकारी संगठन मलाला फंड के साथ भागीदारी करके भारत और लैटिन (लातिन) अमेरिका में शिक्षा कार्यक्रमों में मदद करेगी। इस तरह, मलाला फंड 1,00,000+ बालिकाओं को माध्यमिक शिक्षा की अवसर दे पायेगी।

इस भागीदारी का यह तात्पर्य है कि मलाला फंड गुलमकई नेटवर्क के जरिये वितरित की गयी कोष को दोगुनी कर सकेगी। गुलमकई नेटवर्क विकासशील देशों में स्थानीय शिक्षाकारों और कार्यकर्ताओं को समर्थन देती है जो बालिका शिक्षा संबंधी समस्याओं, जैसे गरीबी, युद्ध और लिंगभेद से जूझते हैं। यह नेटवर्क अभी अफ्गानिस्तान, पाकिस्तान, लेबनान, तुर्की और नाइजीरिया में कार्यरत है।

युसूफजई ने एक बयान में कहा कि उनका सपना हर लड़की को उसका सपना चुनने का हक देना है। उन्होंने एपल का शुक्रिया अदा करते हुये कहा कि एपल मलाला निधि से जुड़कर बालिकाओं में निवेश करके यह सुनिश्चित कर रही है कि सभी बालिकायें बगैर भय के सीख सके और समाज का नेतृत्व भी कर सके।

एपल ने कहा है कि वह संगठन की प्रौद्योगिकी, पाठ्यचर्या (करिकुलम) और नीतिवान शोध के जरिये मदद करेगी। इस भागीदारी के तहत, टिम कुक मलाला निधि की नेतृत्व परिषद के सदस्य बनेंगे।

बालिका शिक्षा की आवाज बुलंद करने के कारण युसूफजई को तालिबानी बंदूकों का सामना करना पड़ा था जब वह 15वर्षीय थी। उन्होंने अपने पिता के साथ मलाला निधि की स्थापना की जो हर बालिका को 12 वर्ष की मुफ्त, सुरक्षित और गुणवत्तापरक शिक्षा देती है। वह सबसे जवान नोबल पुरस्कृत है।

छवि स्त्रोत: एबीसी न्यूज

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा पढ़ा गया यह पोस्ट हजारों को प्रेरित करने वाली है? यदि इसका जवाब सकारात्मक है तो आप अपने वही विचार यहाँ भी दे सकते हैं।